The Pink Comrade

"अपने मुंह मियां मिट्ठू" की जय

खुद अपनी वाह वाही करना जो इंसान बहुत ज्यादा सच बोलने की डींगे हांकते रहते हैं वहीं सबसे बड़े मक्कार होते हैं ।

Read More

न अच्छा गाना गाएंगे, ना राजा जी घर बुलाएंगे।

मेरी कहानी के नायक को एक कहावत ने जिंदगी की असलियत से रूबरू करा दिया जो बात उसके घर वाले उसे कई बार समझा चुके थे वह मात्र एक कहावत...

Read More

लड़की भले बेकार हो लेकिन दहेज़ मे कार हो

सरोजजी एक आलिशान कोठी में रहती है। उनके पति सरकारी बैंक में मैनेजर है। दो लड़के है और एक लड़की...लड़की की शादी में उन्होंने खूब देहज़...

Read More

जो होता है अच्छे के लिए होता है

तुमको देखा है मैंने... रोज़ आती हो यहां पर अंदर क्यों नही जाती"? एक लड़के की आवाज़ आयी...

Read More

जो बोयेंगे वही काटेंगे

किसी अपने को अंजान जगह देख के जो खुशी होती है वैसे ही रुक्मिणी को भी हो रही थी। नेहा को अपने गले से लगा के बहुत रोई रुक्मिणी जैसे...

Read More

बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से होए

अब क्या होगा कहने से और कुछ करने से ।जब मैं कहती थी कि बिगड़ जाएगा इतनी छूट मत दो तब तो मुझे "हिटलर और आर्मी में भर्ती हो जाओ" जैसी...

Read More

अपने पूत को कोई काना नही कहता।

ये एक सामाजिक धारणा है कि कोई अपनी संतानों को , उनके कार्यो को गलत नही बताता।

Read More

बूढ़ी घोड़ी लाल लगाम

यह कहानी एक ऐसी उम्र दराज औरत की है जिसे सजना संवरना बहुत पसन्द है लेकिन जिम्मेदारी के चलते वो ऐसा नहीं कर पाती है लेकिन जब जिम्मेदारी...

Read More

घर की मुर्गी दाल बराबर !

फोन की घंटी लगातार बज रही थी सिया ने फोन उठाया सामने से सिया की बहन बात कर रही थी :- दीदी कुछ भेजा है आपको फुर्सत के पलों में देख...

Read More

घी सवारें तोरियाँ नाम बड़ी बहू का

अरे वाह, आजकल तो तुम सबकी पसंद की सब्जी बना रही हो? कल फिर तुम अपनी पसंद की बना लेना" सुजाता जी ने हँसते हुए रिया से कहा|

Read More