केटेगरी : ज्ञानी वाणी

आजकल के बच्चों को काउंसिलिंग द्वारा सर्वश्रेष्ठ नागरिक...

आजकल की पीढ़ी के कुछ बच्चें चार पाँच साल की उम्र से लेकर पच्चीस साल तक एक असमंजस से घिरे होते है, और अपनी ज़िंदगी के बारे में कोई भी निर्णय लेने में एक द्विधा से घिरे रहते है। कुछ तय नहीं कर पाते की ज़िंदगी में क्या करें, क्या...

और पढ़ें

चलो कविताओं में साँसें भरें !

"चलो कविताओं में साँसें भरे""जो कहना है कह डालो, मन की गगरी से छलकते एहसासों को मन में ही मत भुन...

और पढ़ें

परिस्थितियों का सहज स्वीकार ही ज़िंदगी जीने का आसान तरीका...

"जाता है जब कोई छोड़ हमें दुनिया विरान लगती है, वक्त थम जाता है और खुशियाँ रूठी लगती है, नहीं भाती ज़िंदगी की रानाईयाँ अपनों की जुदाई में दिल नासाज़ हो जाता है"हर रिश्ते की एक उम्र होती है, कोई...

और पढ़ें

युद्ध आख़िर क्यूँ?

"युद्ध आख़िर क्यूँ""हरेक महल से कहो के झोपड़ियों में दिए जलाये, छोटो और बड़ो में अब कोई फर्क नहीं रह जाये,इस धरती पर हो प्यार का घर घर उजियारा, इंसान का हो इंसान से हो भाईचारा यही संदेश हमारा"इतनी समझ तो हर इंसान...

और पढ़ें

हर क्षेत्र में महिलाएं बने आत्मनिर्भर#BreakTheBias

भारत देश की जनसंख्या का 48% महिलाएं हैं, यानी लगभग आधी जनसंख्या औरतों की है। 70.3% महिलाएं पढ़ी लिखी है और उनमें से सिर्फ 21% औरतें आत्मनिर्भर हैं। इसका मुख्य कारण है, हमारे समाज का रूढ़िवादी होना।हमारे...

और पढ़ें

आख़िर क्यूँ

युद्ध का खयाल आने से पहले काश दिमागी गमले में चार फूल अमन के खिले होते.. हर शहीद के घरों में खुशियों के चमन रौनक से हरेभरे होते..खून की गंध और मांस की घिनौनी पेशियों से परहेज होता पुतिन को..चिथड़े...

और पढ़ें

बच्चे के लिंग का दायित्व किसका?? #BreakTheBias

आजकल हर तरफ महिला सशक्तिकरण की बातें की जाती हैं, बड़े ज़ोरों-शोरों से महिला दिवस मनाया जाता है और सब ओर लड़का-लड़की...

और पढ़ें

कब थमेगा ये अत्याचार?

कब थमेगा ये अत्याचार?सच कहा है किसी ने। कभी तो मैं सिर पे बैठाऊं, कभी...

और पढ़ें

अंधविश्वास क्यों? #Break the bias

जी हां दोस्तों, आज के समाज से मुझे यही पूछना है कि सन्तान उत्पति ना होने पर किसी साधु-बाबा के कहने पर औरत को...

और पढ़ें

युद्ध धर्म नहीं है शांति की भावना धर्म है!

"युद्ध धर्म नहीं, शांति कामना धर्म है"आजकल देश और दुनिया में एक ही बात की चर्चा हो रही...

और पढ़ें