केटेगरी : ज्ञानी वाणी

अमित शाह सभालेंगे घर ,निर्मला सीतारमण बनाएंगी देश का बजट...

कई बार कहानियों में पढ़ा और फिल्मों में देखा। कैसे एक पुरुष घर की ज़िम्मेदारियाँ उठाता है ,और एक औरत संभालती है दफ्तर।  ये एक सपने जैसा भी है , जो सुबह की नींद की साथ उड़नछू भी हो जाता है। मगर 2019 के चुनाव इस सपने को आने...

और पढ़ें

क्यूँ जाना है मायके ?

ये सवाल ना जाने कितने मन को घायल करता होगा। जब भी पूछा जाता है ,कुछ बोल नहीं पाती। ऐसा नहीं की कहने को कुछ नहीं है , शायद इसलिए की बहुत कुछ है। अपने घर से बिछड़ना ,जैसे शरीर से आत्मा का अलग होना। पर शब्दों में कैसे बाँधू इस बात...

और पढ़ें

गृहणी की नींद !

मैं एक गृहणी और मेरी नींद की परवाह पूरी दुनिया भर को रहती है। घर में रहने वाले सदस्य और बाहर से आये मेहमान अक्सर मेरा आदर सत्कार मेरी नींद से जुड़े सवालों से करते हैं। कभी कभी मैं बौराई सी एक टुक उनके चेहरे को ऐसे देखती हूँ की क्यों...

और पढ़ें

Queen Bee Syndrome – क्या आप इस सिंड्रोम को जानती हैं ?

इस सिड्रोम के बारे में जानने से पहले ,बात करते हैं महिलाओं की दिनचर्या के बारे में। शादी के बाद एक महिला का जीवन जितना बदलता है , उतना किसी का नहीं , नया परिवार ,नया माहौल और एक नयी ज़िंदगी। इस नयी दिनचर्या को आसान बना सकतीं हैं...

और पढ़ें

ओ स्त्री तुम आज जियो !

मेरे घर के सामने वाले घर में कोई नयी फैमिली शिफ्ट हुई , बिखरा हुआ सामान और बालकनी में जहाँ के तहाँ पड़ी वो नील कमल वाली कुर्सियां। सब थके हारे ,अपनी अपनी जगह पकडे राहत की दो सांस लेने की कोशिश कर रहे थे। ज़्यादा बड़ी फैमिली नहीं लगती...

और पढ़ें

मैं भी माटी का पुतला हूँ !

अरे सारा दिन घर पर बैठे रहते हो ,कुछ करते क्यों नहींक्या होगा भविष्य तुम्हारा , चार पैसे कैसे घर आएंगेये कटाक्ष मुझे तबसे सुनाई दिए , जबसे मेरे स्कूल का बस्ता कंधे पर आयाकभी हंसकर टाल दिया ,तो कभी अकेले कमरे में...

और पढ़ें

धुंधली सी एक परछाई !

ये रविवार सिया को देखने कुछ लोग आने वाले हैं , अपने रणविजय साहब हैं न ग्वालियर वाले उनका कोई दूर का भांजा लगता है।  अख़बार के पन्ने पलटते हुए राघव ने अपनी पत्नी आरती से कहा। ग्वालियर का नाम सुनते ही आरती के हाथ में थमा पानी...

और पढ़ें

तुम रोती क्यूँ नहीं ?

इस आर्टिकल का शीर्षक पढ़कर आपके मन ढेरों प्रश्न जन्म ले रहें होंगे ? अख़बार , किताबें , ब्लोग्स और आर्टिकल्स में जहाँ देखो महिलाओं को खुश रहने और मुस्कराने के तरीके सिखाए जा रहे हैं ! पर मैं आपसे कहना चाहूंगी ” खुल कर रोइये...

और पढ़ें

एक मुलाकात Safe N’ Happy Periods के साथ

पीरियड्स /मासिक धर्म महिलाओं में होने वाली एक मासिक प्रक्रिया है। जिसका सीधा सीधा सम्बन्ध महिलाओं के प्रजनन तंत्र से होता है। पीरियड्स के बारे में बात करना , उन दिनों के दौरान क्या करना ठीक है और क्या नहीं ?लड़कियों और महिलाओं का...

और पढ़ें

The so called Feminist Neha Dhupia

The extreme of Pseudo feminism and Hypocrisy is quite visible in the open letter shared by THE SO CALLED FEMINIST NEHA DHUPIA. Recently on an obsolete show Neha Dhupia termed a girl choice of having cheating her boyfriend with...

और पढ़ें