मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगा

मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगा

 "विधि !चलो बाहर चलते हैं ।गेम्स टाइम है।फिर क्लासेज शुरू हो जाएँगी।" राहुल ने विधि को उदास देखा।"और तुम उदास क्यों हो ?आज तो टेस्ट भी नहीं।" राहुल हँस पड़ा।
" क्या राहुल तुम भी? हमेशा तंग करते हो तुम ।जाओ मेरी तबीयत कुछ ठीक नहीं ।"
"क्या हुआ विधि ?तुम और गेम्स  टाइम में चुपचाप बैठी हो? क्यों  राहुल है ना आश्चर्य?"पिया राहुल  को देख बोल पड़ी।
"पिया !इधर सुनो।"
" क्या हुआ ? इतने धीरे क्यों बोल रही?"
"पीरियड्स आने वाला है शायद। मम्मा ने बताया था मुझे।सुबह भी दर्द था पर मुझे लगा ऐसे ही हो रहा ।कुछ उल्टा सीधा खा लिया होगा। पर अभी फिर हो रहा।ब्लीडिंग भी हो रही लगता है?क्या करूँ?समझ नही आ रहा ।"
"फर्स्ट टाइम है क्या ?"
"हाँ यार !"
"फिर तुम स्कूल क्यों आई ?"
"अरे कंफर्म थोड़े हैं ?और मुझे क्या पता था?"
"हाँ!वह भी है।पैड लाई हो क्या?"
"पैड कहाँ से लाऊँगी? जब फर्स्ट टाइम है तो। "
"अच्छा!मैं लेकर आती हूँ ।तू यहीं  बैठ।"पिया ने कहा।
" तुम लोग क्या फुस फुस कर रही हो?" राहुल ने कहा।
" कुछ नहीं !चलो हम चलते हैं।इसे आराम करने दो।"
 विधि चुपचाप बैठ गई है ।उसे अब पछतावा हो रहा था कि वह स्कूल क्यों आई?क्लासेज भी शुरू होने वाली थी। सभी वापस आ गए ।
"अब तबीयत कैसी है विधि ?"
"ठीक है राहुल! मैं आती हूँ।"जैसे ही वह उठी उसे लगा कुछ गड़बड़ है और वह फिर बैठ गई ।
"क्या हुआ?"
" कुछ नहीं ।"
"कोई दिक्कत है तो बताओ। हम दोस्त हैं विधि।"
" कोई बात नहीं राहुल। बस प्यास लगी थी ।"
"अच्छा मैं अभी ले आता हूँ।"
" अब क्या करूँ? पता नहीं यह पिया कहाँ रह गई?"
" विधि !लो पानी पियो।प्लीज  बुरा मत मानना। मैं समझ रहा हूँ तुम्हारी प्रॉब्लम क्या है ।मम्मा ने मुझे बताया है और दूसरों को हेल्प करने को भी कहा था।तुम्हारी और पिया की बातें भी मैंने थोड़ी बहुत सुन ली थी।" विधि घबरा गई ।"घबराओ मत विधि! मैं समझ रहा। तुम डरो मत मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगा। बताओ क्या करूँ?"
" राहुल! वो ...वाशरूम ... जाना था।"
"कोई बात नहीं। मैं तुम्हारे पीछे रहूँगा ।तुम चलो ।"तब तक पिया भी आ चुकी थी। दोनों ने मिलकर विधि की मदद की। "थैंक्स दोस्तों !खासकर राहुल ,तुमने बहुत मदद की मेरी ।" "थैंक्स कैसा ?हम दोस्त है न।कल घर पर ही रहना पढ़ाकू बनने की जरूरत नहीं ।"विधि हँस पड़ी ।घर आकर राहुल ने अपनी मम्मा को बताया। वह बहुत खुश था ।"मम्मा!आज मैंने विधि की मदद की ।आपने कहा था ना लड़कियों को प्रॉब्लम होती है।"
" बहुत बढ़िया बेटा! आई एम प्राउड ऑफ यू ।कभी भी किसी लड़की को ऐसे परेशानी में देखो तो उसका मजाक कभी ना बनाना। बल्कि उसकी मदद करना ।"
"जी मम्मा !"
"मेरा अच्छा बेटा ।"राहुल मम्मा के गले लग गया।

मेरी कहानी पसंद आई तो मुझे लाइक और मुझे फालो करें।

#MyFirstPeriod 

डाॅ मधु कश्यप 

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0