आत्महत्या आखिर क्यों?

आत्महत्या आखिर क्यों?

मेरी तरह आप सब भी सुशांत सिंह की आत्महत्या करने की बात से हैरान होंगे। सुशांत सिंह एक सफल अभिनेता, टेलीविजन से लेकर बड़े पर्दे तक अपने किरदार से करोड़ो लोगो को अपना दिवाना बनाने वाला व्यक्ति अपने हाथों ही अपनी जीवन लीला समाप्त कर सकता है यकीन नही होता।

आप सभी ने उनकी फिल्म छिछोरे जरूर देखी होगी। छिछोरे’ फ़िल्म में जो उन्होंने किरदार निभाया वो भुलाया नही जा सकता। फ़िल्म में पिता अनिरुद्ध (सुशांत सिंह राजपूत) अपने बच्चे की आत्महत्या की कोशिश के बाद अंदर से हिल जाता है। बच्चे ने इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा में असफल होने के बाद आत्महत्या का प्रयास किया था। अनिरुद्ध को समझ में नहीं आता कि उसके बेटे ने ऐसा क्यों किया? वो तो हमेशा बेटे का मनोबल बढ़ाता रहता था। जीवन में पॉजिटिव बने रहने का मशविरा देता रहता था। 

सुशांत ने ‘छिछोरे’ फ़िल्म में जिस किरदार को निभाया है वो आशावादी है और जिंदगी के बड़े से बड़े हादसे को सकारात्मकता के साथ हल करने की बात करता है। फिर अपने व्यक्तिगत जीवन मे वह आशावादी वह सकारात्मकता पर विचार क्यों नही किया उन्होंने।

क्या खुद का जीवन खत्म करना किसी भी समस्या का समाधान हो सकता है..? आप डिप्रेशन में हैं दुख और निराशा की वजह से अगर आत्महत्या और खुद को चोट पहुंचने के बारे में सोचते है तो एक बार जरूर सोचे कि आप अकेले नहीं है आपके साथ आपका परिवार है जो सदैव आपकी परेशानी को समझने के लिए तैयार है। आपके साथ आपके दोस्त है जो शायद समस्या हल न कर सकें लेकिन आपको विपरित परिस्थितियों से लड़ने का हौसला और आत्मविश्वास जरूर दे सकते हैं। कोई भी परेशानी जीवन से बड़ कर नही हो सकती।

इस सृष्टि पर ऐसी कोई समस्या नही जिसका हल न हो। बहरहाल, अब सुशांत हमारे बीच नही है 34 साल की इतनी कम उम्र में टीवी और फिल्मी जगत में उन्होंने जो पहचान बनाई वो सदैव उनके चाहने वालो के दिल मे रहेंगी। ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति दे।

@बबिता कुशवाहा

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0