चलती रहीं अंधाधुंध गोलियां...

आज दादाजी बड़े उदास थे उनकी उदासी का कारण दस वर्षीय रोहन जो उनका पोता था पूंछा | दादा जी ने जवाब में कहा आज के दिन इतिहास में बहुत बड़ा नरसंहार हुआ था और यह नरसंहार स्वतंत्रता संघर्ष के इतिहास का एक काला अध्याय है | दादाजी की बात रोहन बड़े ध्यान से सुन रहा था | रोहन का सपना था कि वह बड़ा होकर देश का वीर जवान बनकर देश की रक्षा करेगा | और दादा जी की बात सुनकर रोहन प्रश्न पर प्रश्न करता रहा कैसा नरसंहार दादा जी ? तब दादा जी ने उसे जलियांवाला बाग नरसंहार की दुखद घटना बताने लगे उन्होंने रोहन को बताया कि वह दिन 13अप्रैल का था जब जलियांवाला बाग में हजारों की तादात में लोग एक शांतिपूर्ण सभा के लिये एकत्रित हुए थे वहीं कुछ लोग अपने परिवार के साथ यहां घूमने आये थे                                 

करीब 12:40बजे डायर को जलियांवाला बाग में होने वाली सभा की सूचना मिली थी सूचना मिलने के बाद डायर करीब 4:00 बजे अपने दफ्तर से करीब 150 सिपाहियों के साथ इस बाग के लिए रवाना हो गए थे | डायर को लगा कि यह सभा दंगे फैलाने के मकसद से की जा रही है इसलिए उन्होंने बगैर चेतावनी दिए अपने सिपाहियों को गोलियां चलाने के आदेश दे दिए उस वक्त करीब 10 मिनट तक अंधाधुंध गोलियां चलती रही | पंजाब राज्य के अमृतसर जिले में ऐतिहासिक स्वर्ण मंदिर के नजदीक जलियांवाला बाग के नाम से इस बगीचे में अंग्रेजों की गोलीबारी से घबराई बहुत सी औरतें अपने बच्चों को लेकर जान बचाने के लिए कुएं में कूद गई निकासी का रास्ता सकरा होने के कारण बहुत से लोग भगदड़ में भी कुचले गए और हजारों लोग गोलियों की चपेट में आए |                                                                                         

वह एक भयानक मंजर था उस वक्त बाग की जमीन का रंग लाल हो गया था | जलियांवाला बाग का पूरा घटनाक्रम रोहन सुनकर बेहद दुखी था और मन ही मन सोचता रहा कि देश को आजादी दिलाने में कितने लोगों ने कितने सारे कुर्बानियां दी हैं सच में 13अप्रैल का वह दिन भारतीय स्वतंत्रता संघर्ष के इतिहास का एक काला अध्याय हैं |                                               

धन्यवाद                                                             

रिंकी पांडेय                                                            #जलियांवालाबाग                                                       

चित्र साभार गूगल 

What's Your Reaction?

like
2
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0