एक नवजात को बद्दुआ देना क्या यही है भारतीय संस्कृति

एक नवजात को बद्दुआ देना क्या यही है भारतीय संस्कृति

जब किसी के घर में बच्चा पैदा होता है. तो उन्हें बधाई दी जाती है. जच्चा-बच्चा की सेहत के लिए दुआ की जाती है।बच्चे के अच्छे भविष्य के लिए प्रार्थना की जाती है।बधाई गीत गाये जाते हैं तोहफे दिए जाते हैं।
 लेकिन अब एक नया चलन सोशल मीडिया में शुरू हुआ है  पैदा होते ही बच्चे को कोसने का. उसे गालियां देने का. उसके लिए बद्दुआ मांगने का.पैदा होते ही एक बच्चे को कितना ज्यादा कोसा जा सकता है ट्रोल्स से पूछिए
 सोशल मीडिया यूजर्स ने सैफ  और करीना को ट्रोल करते हुए उनके बेटे का नामकरण कर दिया है। यूजर्स ने करीना और सैफ को ट्रोल करते हुए तैमूर के भाई का नाम औरंगजेब रखा है।दरअसल, सैफ के बड़े बेटे का नाम इब्राहिम है, दूसरे बेटे का नाम तैमूर अब ट्रोलर्स ये कयास लगा रहे हैं कि सैफ-करीना के तीसरे बेटे को बाबर होगा।
करीना ने साल 2016 में अपने पहले बेटे को जन्म दिया था. तब उन्होंने अपने लाडले का नाम तैमूर रखा था, जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने अपनी नाराजगी भी जाहिर की थी. दरअसल, तैमूर के नाम को एक क्रूर शासक के तौर पर बताया गया था. ट्रोल होने के बाद सैफ ने नाम बदलने पर विचार भी किया था, लेकिन करीना ने नाम बदलने से इनकार कर दिया था।

 यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा- मुबारक हो तैमूर के बाद अब औरंगजेब पैदा हुआ है।
 एक अन्य यूजर ने लिखा- 'औरंगजेब आ गया।' इसके अलावा अब सोशल मीडिया पर तैमूर को लेकर कई मीम्स भी बन रहे हैं।
सोशल मीडिया आज एक सशक्त माध्यम है लेकिन क्या सही है कि लोग दूसरों की जिंदगी में भी दखल दे एक बच्चा जो अभी दुनिया में आया ही है यह किस मानवता की श्रेणी में आता है कि उसे कोसा जाए उसके पैदा होते हैं उसे आतंकवादी बता दिया जाए उसे ट्रोल किया जाए ।

एक माँ  के लिए यह सब कितना कष्टदायक होगा जरा सोचिए।

क्यों नहीं एक माता पिता के लिए यह उनका निजी मामला होना चाहिए कि वह अपने बच्चे का क्या नाम रखें।
क्या यही  भारत की संस्कृति और संस्कार हैं, बच्चा मुश्किल से कुछ घंटों का हुआ है।अभी  उसने अपनी आंख भी पूरी नहीं खोली 
और गौरवान्वित भारतीयों ने उससे नफरत करना शुरू कर दिया है उसे आतंकवादी  बताना शुरू कर दिया है ।

अनु गुप्ता 

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0