हमारे यहाँ शादी के सफल होने की गारंटी

हमारे यहाँ शादी के सफल होने की गारंटी

आपको पता है हमारे भारत में शादी की सफलता की गारंटी क्या है  ?कैसी लड़की हो जो शादी सफल हो? आप कहेंगे पढ़ी लिखी समझदार लड़की हो अरे नहीं वह तो होनी ही चाहिए ।
इसके अलावा और क्या गुण होना चाहिए लड़की में शादी की सफलता के लिए सोचिये ...
अरे भाई आपने क्या कभी शादियों के विज्ञापन नहीं देखें कि उनमें  क्या लिखा होता है?
नहीं समझे तो चलिए हम बताते हैं आज आपको की शादी सफल हो इसके लिए लड़की कैसी होनी चाहिए।
शादी के विज्ञापन में लड़की को गोरी, पतली, लंबी लिखना ही चाहिए. अगर गोरी नहीं है तो कोई और रंग ना लिखें, उसे छिपा लें. ऐसा क्यों ?घर में ही एक बहन गोरी और एक काली या जिसे सांवली भी कहते हैं, तो मां-बाप बचपन से ही सिखा देते हैं कि गोरी वाली की तो आराम से शादी हो जाएगी, सांवली के लिए मुश्किल होगी।
सांवली लड़की के लिए दहेज ज़्यादा देते हैं. जैसे कि कोई भरपाई हो जाएगी।
बहू  गोरी और सुंदर होनी चाहिए' लड़का बेशक काला है पर भला कोई लड़के का भी  रंग रूप देखा जाता है।
गोरेपन को ख़ूबसूरती की पहली ज़रूरत के तौर पर दर्शाया जाता है.  त्वचा का रंग तय करता है जहां सब कुछ - चांद-सा गोरा बच्चा हो, यह तमन्ना हर मां की होती है. गर्भ में ही उसे गोरा बनाने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है।
नारियल पानी पीना, केसरवाला दूध लेना... आदि प्रक्रियाएं बच्चे को गोरा बनाने के लिए की जाती हैं, इस पर अगर बेटी हो गई, तो उसका गोरा होना और भी ज़रूरी हो जाता है, क्योंकि सांवली लड़की से शादी कौन करेगा? - उबटन लगाकर, हल्दी लगाकर और न जाने क्या-क्या उपाय किए जाते हैं रंगत निखारने के लिए, क्योंकि बेटी के पैदा होते ही उसकी शादी की चिंता सबको खाए जाती है.   - पढ़ाई-लिखाई तो होती रहेगी, करियर भी बन जाएगा, लेकिन सांवली लड़की से शादी कौन करेगा? 
 शादी के विज्ञापनों में भी सबसे पहले गोरी कन्या की डिमांड की जाती है. - विज्ञापनों में भी फेयरनेस को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया जाता है. - ऐसे में हर लड़की चाहती है कि उसकी गोरी रंगत हो. हर मां चाहती है कि उसकी बेटी गोरी हो और हर सास गोरी बहू ही घर में लाना चाहती है।
  
 ये सारे उदाहरण हर घर में मौजूद हैं।
अगर किसी गोरे लड़के की शादी सांवली लड़की से हो जाती है, तो सबसे पहले परिवारवाले उसके साथ भेदभाव का रवैया अपनाते हैं, उसके अलावा दूसरे लोग भी यही कहते पाए जाते हैं कि इतना गोरा लड़का था, क्या देखकर इस लड़की से शादी कर दी?
 लड़की को ख़ास तरह के कपड़े और मेकअप करने पर ही ज़ोर दिया जाता है, ताकि उसकी सांवली रंगत और गहरी न लगे.
ये तमाम धारणाएं गोरे रंग के साथ जुड़ी हुई हैं और जाने-अंजाने हम सब इसी धारणा को पैमाना बनाकर लोगों को जांचते-परखते हैं और यदि जांच-परख शादी के लिए हो और वो भी लड़की की, तब तो यह सबसे ज़रूरी सर्टिफिकेट माना जाता है।
तो इस हिसाब से तो हमें यह मान लेना चाहिए की शादी में सफलता की गारंटी लड़की का गोरा होना अगर लड़की गोरी होगी तो शादी भी सफल होगी।
लेकिन क्या वाकई ऐसा है कि लड़की गोरी हो तो शादी सफल होगी और लड़की काली हो तो असफल ?

नहीं ना जैसे पतला होना फिट होने की निशानी नहीं है ऐसे ही गोरा होना शादी  सफल होने की निशानी नहीं है ।
इसलिए निकलिए अपनी इस  सोच .और  वहम से बाहर और रंग  की जगह गुणों को महत्व दीजिए तभी शादी सफल होगी।

अनु गुप्ता

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0