जिंदगी में योग का महत्व

जिंदगी में योग का महत्व

 जिंदगी में योग का महत्व
 
योग व्यायाम का ऐसा  महत्वपूर्ण अंग है, जिसके माध्याम से न केवल शरीर के अंगों बल्कि मन, मस्तिष्क और आत्मा में संतुलन बनाया जाता है। यही कारण है कि योग से शा‍रीरिक  बीमारियों के अलावा मानसिक समस्याओं से भी  छुटकारा पाया जा सकता है। 
योग के अंतरराष्ट्रीय दिवस को विश्व योग दिवस भी कहते है। 11 दिसंबर 2014 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रुप में 21 जून को संयुक्त राष्ट्र आम सभा ने घोषित किया है।

योग की उत्पत्ति प्राचीन समय में भारत में हुयी थी जब लोग अपने शरीर और दिमाग में बदलाव के लिये ध्यान किया करते थे। पूरे विश्वभर में योग अभ्यास की एक खास तारीख की और योग दिवस के रुप में मनाने की शुरुआत भारतीय प्रधानमंत्री के द्वारा संयुक्त राष्ट्र आम सभा से हुयी थी।

सभी के लिये योग बहुत ही जरुरी है और अगर इसे सुबह-सुबह रोजाना करें तो ये सभी के लिये फायदेमंद साबित होता है। 
अपने भाषण के दौरान हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यू.एन. की आम सभा से कहा कि “योग भारतीय परंपरा का एक अनमोल उपहार है।” ये मस्तिष्क और शरीर की एकता को संगठित करता है ।

हमें कौन से आसन या प्राणायाम करने चाहिए इसके लिए सबसे पहले यह समझना होगा कि हमारे शरीर की आवश्यकता क्या है ?हमारी दिनचर्या किस प्रकार है ?अगर आप ऑफिस या बैंक क्लर्क हैं या ब्यूटी पार्लर चलाती हैं तो आपको मोटापा कोलेस्ट्रोल बीपी डायबिटीज जैसी बीमारियां हो सकती हैं ।

तीनों की श्रेणी की प्रोफेशनल या कामकाजी महिलाएं दिन में चार बार अनुलोम विलोम प्राणायाम जरूर करें इसके लिए सुबह योगाभ्यास के अंत में शवासन  करने के बाद दोपहर में भोजन से 10 मिनट पहले शाम को नाश्ते से 10 मिनट पहले और रात्रि भोजन से भी 10 मिनट पहले पांच पांच बार करें ध्यान रखें कोई भी आसन या प्राणायाम आप पर असर जरूर डालता है। इसलिए इन्हें करने की विधि सही  होनी चाहिए तभी यह सकारात्मक परिणाम देंगे। ऐसे में जो लोग पहली बार योगाभ्यास करने जा रही हैं वे किसी योग्य

योगा एक्सपर्ट की देखरेख में ही इसे शुरू करें ।यदि आप दिनभर बहुत भागदौड़ करती हैं  तो आपको सतर्कता की जरूरत है ।जिन लोगों को मानसिक श्रम करना होता है उन्हें तनाव अवसाद डायबिटीज की शिकायत हो जाती है इस श्रेणी के लोगों को अत्यधिक मानसिक कर्म करना होता है इससे उन्हें अत्यधिक तनाव अवसाद डायबिटीज मोटापा दिक्कत हो जाती है ।अत्यधिक तनाव उनके पारिवारिक जीवन को भी प्रभावित करता है ।तो आपको पूर्ण स्वस्थ रहने के लिए अपने शरीर पर अवश्य ध्यान देना चाहिए ।आप अपने लिए 30 मिनट अवश्य निकालें सुबह 15:00 मिनट सामान्य गति से नियमित रूप टहलें। 

#MyHealthDiary

  #Suggestion For Women

 

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0