क्यों हिम्मत नही की

क्यों हिम्मत नही की

आज से लगभग 25 साल पहले घर के बडे़ बच्चो को गुड टच और बैड टच के बारे में कम ही बताते थे, लेकिन फिर भी 12 साल की लड़की को इतना तो समझ आ जाता है कि सामने वाला उसे किस मंशा से छूना चाहता है।

तो यह घटना मेरे स्वयं के साथ हुई थी। बात उस समय की है जब मैं सातवीं कक्षा में पढ़ती थी। मुझे अपने चाचा-चाची और अपनी चचेरी बहनो के साथ ट्रेन से कही जाना था। ट्रेन में तो मानो पैर रखने की भी जगह नही थी। उस समय हम लोग बिना रिजर्वेशन के ही सफर किया करते थे। जैसे-तैसे धक्का-मुक्की करके हम किसी तरह अंदर आ पाये। चाचाजी ने हम सभी को थोडा़ अंदर की तरफ खडा़ किया। लेकिन हालत ऐसी थी कि किसी तरह बस एक पैर  पर खडे़ हो पा रहे थे।

थोडी़ देर बाद अचानक मुझे कुछ अजीब सी गंध महसूस हुई। पीछे मुड़कर देखा तो एक अधेड़ उम्र का आदमी शराब के नशे में मुझे देख रहा था। उसका देखना मुझे अच्छा नही लग रहा था। लेकिन वहाँ से हिलने की भी जगह नही थी, इसलिये वही खडी़ रही। थोडी़ देर बाद कमर पर कुछ रेंगता सा महसूस हुआ। ये उसी आदमी के हाथ थे। एक बारह-तेरह साल की लड़की की मनोदशा उस समय क्या हुई होगी, आप अंदाजा लगा सकते हो। झटककर उसका हाथ हटा दिया मैने। लेकिन फिर थोडी़ देर बाद उसने मुझे छूना शुरु कर दिया। इतनी भीड़ थी कि कोई उसकी यह घिनौनी करतूत नही देख पा रहा था और मैं डर के कारण किसी से कुछ बोल नही पा रही थी। बस मैं इंतजा़र कर रही थी कि यह डरावना सफर जल्दी से खत्म हो और मैं राहत की सांस लूँ। आखिरकार हमारा स्टेशन आया और हम सभी उतर गये। लेकिन मैं फिर भी इतनी हिम्मत नही जुटा पायी कि चाची और चाचा को इस घटना के बारे में बता पाती।

आज तक मुझे अफसोस हैं कि क्यो चुप रही मैं उस समय। क्यो वहाँ पर मौजू़द सभी लोगो को नही बताया उसकी घिनौनी हरकत के बारे में। मैं क्यो डर गयी, जबकि डरना तो उसे चाहिये था।

अब इस घटना के बारे में मैने अपनी 15वर्षीय बेटी को बताया और समझाया भी कि चुप नही रहना है। मेरी बेटी कराटे की ट्रेनिंग भी ले रही है और ब्लैक बैल्ट तक पहुँच चुकी है।

दोस्तो हम सभी को मानसिक रूप से इतना सशक्त होना पडे़गा कि गलत के खिलाफ अपनी चुप्पी को तोड़ सके।

#येकैसीचुप्पी

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0