मैं डाँस नहीं करूँगी मम्मा!

मैं डाँस नहीं करूँगी मम्मा!

 पलक बहुत परेशान थी ।वह समझ नहीं पा रही थी कि क्या करें ?हारकर उसने अपनी मम्मी से मदद माँगी।
" मम्मा!मैं इस  साल डाँस कंपटीशन में भाग नहीं लूँगी।"
" क्यों बेटा ?तैयारी नहीं हुई क्या?"
" तैयारी हुई है मम्मा ।पर ....।"
"पर क्या ?"
"मेरे पीरियड्स की डेट है। एक तो नॉर्मल दिनों  में भी  मैं परेशान हो जाती हूँ  और पीरियड्स के समय तो मैं ऐसे ही डाँस नहीं कर पाऊँगी। कुछ हो गया तो।कहीं दाग लग गए।"
" ये कौन सा कारण है पलक ?"मीनाक्षीजी आश्चर्य में पड़ गई। "तुम इन सब बातों से कब से डरने लगी ?मैंने कब तुम्हें यह सब सिखाया?"
"डर नहीं रही मम्मा पर हिम्मत नहीं हो रही है।" पलक उदास हो गई ।"मन तो बहुत कर रहा ।हर साल भाग लेती हूँ और फर्स्ट आती हूँ । लेकिन इस बार  मन नहीं लग रहा।"
 मीनाक्षी समझ गई पलक फालतू का डर मन में बिठाए हुए हैं। वह उसे प्यार से समझाते हुए बोली," बेटा! मैं समझ रही तू डर रही है कि कहीं दाग न लग जाए ज्यादा डाँस करने या ज्यादा भागदौड़ करने से ।तुझे पता है पहले कपड़ा इस्तेमाल करते थे। तब बहुत परेशानी होती थी ।हर महीने टेंशन रहता था। हमने भी वही किया है फिर भी हम सारा काम करते थे। कभी इस कारण नहीं मना करते थे कि पीरियड है तो कैसे स्कूल जाएँगे कैसे डाँस करेंगे या क्या करेंगे ?अब तो पैड आ गए हैं। बेटा अब तो बहुत आराम है। फिर तू क्यों ऐसे बोल रही हैं? इसलिए तू डर मत। जब पहले लोग नहीं डरते थे तो अब क्यों डर रही ?तूने कभी देखा है मुझे कभी परेशान हुए। सभी तो खेल रहे हैं, आ रहे है, जा रहे हैं ।इन सब चीजों को लेकर भी कोई अपना काम रोकता है ?मुझे कभी देखा है तूने ।"
"नहीं मम्मा !आप तो हमेशा काम करती है।"
" यह तो नेचुरल है बेटा। इन सबकी वजह से कोई अपना काम नही रोकता।परेशान मत हो और अच्छे से तैयारी करो ।"
"आपकी बातों से मुझे बहुत हिम्मत मिली ।अब मैं बिल्कुल नहीं डरूँगी।""ये हुई न बात।"पलक डाँस की तैयारी करने में जुट गई।

मेरी कहानी पसंद आई तो मुझे लाइक और मुझे फालो करें ।

#MyFirstPeriod 

डाॅ मधु कश्यप 

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0