मातृत्व के सफर के कुछ आसान टिप्स

चलिए मातृत्व से संबंधित अपने अनुभव के आधार पर कुछ टिप्स बताती हूँ जोकि आपके लिए काफी उपयोगी साबित होंगे-

मातृत्व के सफर के कुछ आसान टिप्स

माँ बनना एक स्त्री का बहुत प्यारा सपना होता है। हर महिला चाहती है वह एक हष्ट-पुष्ट बच्चे को जन्म दे। माँ बनने से पूर्व आपको कुछ अपने लिए भी शारीरिक व मानसिक तैयारी करने की जरूरत होती है। तो चलिए मातृत्व से संबंधित अपने अनुभव के आधार पर कुछ टिप्स बताती हूँ जोकि आपके लिए काफी उपयोगी साबित होंगे-

1-मातृत्व सुख प्राप्त करने से पूर्व स्वयं को शारीरिक,मानसिक व भावनात्मक रूप से तैयार कर लें। मातृत्व से ही आपके जीवन की नये जीवन की शुरुआत होगी। जब आपको लगे आप माँ बनने के लिए हर तरह से तैयार हैं तभी माँ बने।

2-गर्भवती होने पर अपने खान-पान विशेष ध्यान रखें। भोजन में प्रोटीन,विटामिन, मिनरल्स, फाइबर,फल,दूध,स्प्राउट्स व दही का सेवन अधिक से अधिक करें। आप जो भी खायेंगी वह आपके साथ साथ आपके गर्भस्थ शिशु को भी पोषण देगा।

3- गर्भावस्था के नौ माह को तीन चरणों में जाता है। प्रथम तीन माह और अंत के तीन माह विशेष सावधानियां बरतनी चाहिए। समय समय पर अपनी गायनी से सलाह लेते रहें।

4-गर्भावस्था में ज्यादा भारी काम,झुकना,वजन उठाना आदि न करें। साथ ही ज्यादा भारी व्यायाम, नृत्य, दौड़ना, उछलना न करें। 

5-गर्भावस्था में हल्के सूती कपड़े ही पहनें। ज्यादा टाइट, पेट पर जोर देने वाले कपड़े न पहने। ऊँची हिल्स तो भूल ही जायें। हो सके तो हल्के सूती कपड़े से गाउन सिलवा लीजिए। आप बहुत आराम महसूस करेंगी।

6- गर्भावस्था में मस्तिष्क स्थिर नहीं रहता जिसे हम माइंट स्विंग भी कहते हैं। आप कभी हँसते हैं तो कभी चिड़चिड़े हो जातें है। कभी गुस्सा आता है तो कभी अकेलापन लगता है। ऐसे में कोशिश कीजिए अकेले न रहें। सभी सदस्यों से बात करें,टीवी देखें, अपना पसंदीदा काम जैसे चित्रकला,लेखन,पढ़ना,गायन आदि कीजिए।

7- गर्भावस्था के दौरान नाकारात्मक विचारों से दूर अपने आने वाले शिशु के नाम,उसकी गर्भ में हलचल को महसूस कीजिए। उससे बात कीजिए। आपको अपने शिशु से लगाव बढ़ेगा।

8- गर्भावस्था में रात का खाना जितना जल्दी हो खा लीजिए। जिससे आपको सोने में तकलीफ न हो। दूध भी जितना जल्दी हो पी लें, जिससे आपको बार बार यूरिन के कारण आपकी नींद न टूटे।

9-गर्भावस्था में दूसरे शहरों के सफर को नजरंदाज करें ।विशेषकर गर्भावस्था के शुरूआती तीन महीने। आप अपने शहर लॉकल बाजार,पार्क,मंदिर जा सकती हैं पर भीड़भाड़ इलाके में जाने से बचें।

10-गर्भावस्था में कुछ न कुछ खाने का मन करता है। जरूर खाइए पर भर पेट नहीं बस मन भर खाइए। जिससे आपके मन भर जाये पर वह भोजन अति न खायें जैसे- गोलगप्पे, चाऊमीन, पिज्ज़ा आदि।

ये थे मेरे कुछ मातृत्व के सफर के अनुभव। अगर आपको पढ़कर कुछ हेल्प फुल लगा हो तो मुझे कमेंट कीजिए और हाँ फॉलो करना न भूलें।

धन्यवाद

राधा गुप्ता 'वृन्दावनी'

#मातृत्व

#मातृत्व टिप्स

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0