मेरी पहली रोमांचक यात्रा श्री बालाजी महाराज

मेरी पहली रोमांचक यात्रा श्री बालाजी महाराज

 मेरी अपनी जिंदगी की सबसे पहली रोमांचक यात्रा मेहंदीपुर बाला जी की थी। मैं 18 साल की थी ...अपने मम्मी पापा और भाई के साथ श्री बालाजी के दर्शन के लिए गई ।पहली बार जा  रही थी, पापा के दोस्त की भी फैमिली थी। बड़े भाई की छोटी बेटी भी थी ,यही कोई 3 साल की होगी ।

हम लोग बहुत उत्साहित थे ,पापा ने हमें बहुत कुछ बताया था । हम वहां शाम के समय पहुंचे तो आरती होने की वजह से सारा रास्ता बंद था गाड़ी ने हमें वही उतार कर आरती में शामिल होने के लिए कहा हम श्री बालाजी महाराज के मंदिर के सामने राम मंदिर है वहां की सीढ़ियों से आरती देखने लगे वहां की आरती वास्तव में... एक सच्चा दरबार है और मैं तो वहां सब कुछ देख कर इतना डर गई कि मेरी भतीजी भी मेरे से चिपक गयी।

हम जब रास्ते से जा रहे थे तो एक आदमी को जंजीरों से बांधकर ले जाया जा रहा था और वह कह रहा था "मैं प्रधानमंत्री हूं "तो मैंने कहा पापा यह प्रधानमंत्री हैं तो इस तरह क्यूँ जा रहा है ।पापा बोले बेटी इस पर कष्ट है, तुम बस हाथ जोड़कर हनुमानजी का ध्यान करो ।उस समय मेरे समझ में कुछ नहीं आया था पर मेरी यह यात्रा इतनी रोमांचकारी रही कि मैं आज तक उसको नहीं भूलती हूँ। उसके बाद तो मैं शादी के बाद भी तीन-चार बार जा चुकी है । मैं वहां के बारे में आपको बताती हूं....

श्री बाला जी महाराज का भवन बस स्टैंड से 1 KM की दूरी पर है। बाला’ हनुमान जी का बचपन का नाम है और यहाँ वे बाल रूप में स्थित हैं।  श्री बाला जी महाराज के भवन में, श्री बाला जी महाराज जी के बायीं तरफ श्री राधा कृष्णा भगवान जी और दांयी तरफ माता पावर्ती – शिव शंकर जी विराजमान है। शिव जी की विग्रह के बराबर में माता अंजनी जी की विग्रह है। जब हम श्री बाला जी महाराज के भवन में जाते है तो सभी भक्तो का ध्यान श्री बाला जी महाराज के दर्शन में होता है। इसलिए कुछ भक्त गण श्री अंजनी माता के दर्शन नही कर पाते है। माता अंजनी जी विग्रह श्री बाला जी भवन में ही विराजमान है। श्री बाला जी महाराज के दर्शन के बाद भक्तों को श्री भैरो बाबा के दर्शन करने होते हैं जोकि मंदिर परिसर में ही विराजमान है। तत्पश्चात श्री प्रेतराज सरकार के दर्शन किये जाते है।

बालाजी मंदिर के सामने श्री सीताराम जी के दर्शन भी करने चाहिए। अति मनमोहक एवं अलौकिक दर्शन है ।सीताराम जी भगवान का भवन, श्री बाला जी महाराज के भवन के ठीक सामने बना हुआ है, ऐसा लगता है कि बाला जी महाराज जी निरंतर श्री सीताराम जी के दर्शन कर रहे हैं।

मंदिर का समय ...
श्री बालाजी महाराज के मंदिर की पूजा प्रतिदिन सुबह पांच / छः बजे मुख्यद्वार खुलने के साथ शुरू होती है। सबसे पहले श्री बालाजी महाराज का पांच पुजारियों द्वारा गंगाजल से अभिषेक होता है। बाद में चोला चढ़ता है। चोला श्री बालाजी महाराज के श्रृंगार का मुख्य हिस्सा है। 
 

इसके बाद बालाजी की आरती आरम्भ होती है जो की लगभग चालीस मिनट तक चलती है। वहां बहुत से ऐसे भक्त मिलेंगे जो की विचित्र व्यव्हार कर रहे होंगे, जैसे चीखना – चिल्लाना, रोना, सर पटकना, दौड़ते हुए आगे जाना। इनके प्रति प्रेम भाव रखें और इन्हें आगे जाना का रास्ता दें।किसी से बात न करें और भगवान में ध्यान लगायें। अपने हाथ से कोई भी पूजन सामग्री छूनी नही चाहिए। जब तक वहाँ रहे पूर्णतः ब्रह्मचर्य का पालन करे तथा माँस, मदिरा, प्याज आदि का सेवन न करे।

मेहंदीपुर बालाजी दरबार मे (मुख्य मंदिर) के अन्दर बालाजी महाराज का प्रसाद (राजभोग) प्रत्येक भक्त को श्रध्दापूर्वक दिया जाता है। यात्री उसे स्वयं ग्रहण करे तथा घर ले जाकर केवल परिवार मे बाँट सकते है।श्री मेहंदीपुर बाला जी धाम में किसी भी पंडित, ओझा या व्यक्ति विशेष के द्वारा संकट नही काटा जाता है, यहाँ संकट श्री बाला जी महाराज ही काटते है। इसलिये किसी के भी बहकावे में आकर अपना धन एवं समय नष्ट न करे।दर्शनोपरांत मंदिर से निकलने के बाद पीछे मुड़कर मंदिर को न देखें, केवल अपने प्रशाद वाले के अतिरिक्त किसी से बात ना करे। 

यदि आपको श्री मेहंदीपुर धाम में कुछ अन्य पावन मंदिरों के दर्शन करने की अभिलाषा है तो श्री बाला जी भवन से कुछ कदम दूरी पे श्री पहाड़ वाले बाबा जो 3 पहाड़ पे विराजमान है। जब आप तीन पहाड़ वाले बाबा की यात्रा शुरू करते है तो सर्वप्रथम 20-30 सीडियां चढ़ने के बाद श्री भोले नाथ का भव्य मंदिर आता है सभी भक्त वहां पूजा अर्चना करते है। उसके बाद माता अंजनी का मंदिर , श्री राम दरवार , श्री विष्णु भगवान- माता लक्ष्मी का मंदिर , भैरव जी का मंदिर , गणेश जी का मंदिर , हनुमान जी के मंदिर एवं अन्य मंदिर आपकी 3 पहाड़ की यात्रा में आते है। 3 पहाड़ वाले बाबा की पूरी यात्रा में 1 से 2 घंटे लगते हैं।

जय श्री बाला जी महाराज की। 

Image Credit @ https://www.amarujala.com/

 

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0