फिल्म -सांड की आंख

इस फिल्म के द्वारा गांव की औरतों के अत्यंत गंभीर हालात दिखाये गये हैं ।वहां की औरतों के लिए नेल पॉलिश लगाना एक सपना है ।जिनके लिए सिर्फ गोबर , खेती करना, खाना बनाना यही कुछ काम हैं, जिनमें उनकी जिंदगी सिमट कर रह गई है

फिल्म -सांड की आंख

इस फिल्म का नाम सुनने में जितना विचित्र है, यह उतनी ही मनोरंजक और आज की गांव की युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणास्पद भी है। इसकी मुख्य भूमिका तापसी पन्नू और भूमि पेडणेकर ने निभाई है। हरियाणा के छोटे से गांव की परकासी और चंदू ने अपना  नाम शूटिंग में खूब रोशन किया।शूटिंग में टारगेट के सेंटर पॉइंट को जो शूट करता है उसे bulls eye कहते हैं हिंदी में इसी का उच्चारण सांड की आंख है।
अनजाने में दोनों को पता चले अपने कौशल को खूब एंजॉय करती हैं हालांकि दोनों दादी बहुत नटखट हैं। दिल्ली, मुंबई ,कोलकाता सभी जगह चोरी छुपे अनेकों टूर्नामेंट जीतती हैं।जीत के बाद उनसे उनकी उम्र पूछी जाती है जिस पर वे कहती हैं- याद ही नहीं ,अपने लिए कितना जिए हैं।किंतु इतनी सफलता प्राप्त करने के लिए उन्हें अंगारों पर चलना पड़ा।
 परकाशी के दमदार डायलॉग फिल्म में जान फूंक देते हैं। वह कहती है- मर्दानगी धोती और मूछों में नहीं होती, जिगर में होती है। अगर असली मर्द हो, तो कर लो मुकाबला, यदि कभी चूहा भी मारा हो।
वहीं दूसरी और चंदू का कहना कि इन औलादों को 9 माह पालते तो हम हैं ,किंतु पेट से बाहर निकलते ही अपने बापू की गोद में जाकर बैठ, उनका ही नाम जाप करते रहते हैं। यहां के मर्दों को सिर्फ हुक्का पीना और बच्चे पैदा करने के अलावा कोई दूसरा काम नहीं।
चंदू और परकाशी के पार्टी सीन भी खूब मनोरंजक है ।जहां हाथ धोने के लिए आये नींबू पानी को जब परकाशी पी लेती है ,तो यह देख रानी साहिबा भी उसका सम्मान करने के लिए नींबू पानी को पी लेती हैं। दोनों दादी के दिल पर भारी चोट लगती है, जब उन्हें मिले मेडल्स को घर के मर्द पैरों तले रौंद देते हैं। उनकी एक टूर्नामेंट में हार पर ढोल की थाप पर सारे मर्द नाचते हैं।
 किंतु इतनी विषमताओं के बाद भी यह फिल्म दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित किए रहती है। इस फिल्म के द्वारा गांव की औरतों के अत्यंत गंभीर हालात दिखाये गये हैं ।वहां की औरतों के लिए नेल पॉलिश लगाना एक सपना है ।जिनके लिए सिर्फ गोबर , खेती करना, खाना बनाना यही कुछ काम हैं, जिनमें उनकी जिंदगी सिमट कर रह गई है।
#बॉलीवुड तड़का
#द पिंक कॉमरेड
#द ब्लॉगिंग कॉन्टेस्ट

पारुल हर्ष बंसल

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0