भारतीय नौसेना की कुछ ऐसी बातें ,जिन पर हर भारतीय को गर्व होगा

भारतीय नौसेना की कुछ ऐसी बातें ,जिन पर हर भारतीय को गर्व होगा

भारतीय नौसेना का इतिहास शानदार रहा है। 1971 में नेवी ने पाकिस्तान के कराची में उसके नेवी मुख्यालय को ध्वस्त कर दिया था। इसी के बाद से 4 दिसंबर को नेवी डे मनाया जाता है। 

4 दिसंबर को हर साल भारतीय नौसेना दिवस मनाया जाता है. इस दिन नेवी के जाबांज लड़ाकों को याद किया जाता है।

1971 में पाकिस्तान के साथ युद्ध में जीत की ख़ुशी में इंडियन नेवी डे मनाया जाता है. 1971 में पाकिस्तान के आक्रमण का जवाब देते हुए इंडियन नेवी ने ‘ऑपरेशन ट्राइडेंट’ चलाया था. इसके तहत नेवी ने पाकिस्तान के कराची नेवी पोर्ट पर हमला बोल दिया था. उसके कई जहाज और ऑयल टैंकर तबाह कर दिए थे।

भारतीय नौसेना विश्व की पांचवीं ताकतवर नौसेना है। हमारी नौसेना देश और हमारी रक्षा के लिए दिन-रात मुस्तैद रहती है। साथ ही चीन और पाकिस्तान को भी मुंहतोड़ जवाब देने के लिए नौसेना हमेशा तैयार रहती है।

भारतीय नौसेना भारत की सशस्त्र सेना की समुद्री शाखा है। इसका नेतृत्व नौसेना के कमांडर-इन-चीफ के रूप में भारत के राष्ट्रपति द्वारा किया जाता है। 

17वीं शताब्दी के मराठा सम्राट छत्रपति शिवाजी भोंसले को भारतीय नौसेना का जनक माना जाता है। 

 इंडियन नेवी के मुंबई स्थित मुख्यालय में हर वर्ष नेवी डे धूमधाम से मनाया जाता है। नौसैनिक अपनी स्किल का प्रदर्शन कर अपना शौर्य जाहिर करते हैं। गेटवे ऑफ इंडिया बीटिंग रीट्रिट सेयरमनी का आयोजन किया जाता है।

 भारतीय सेना की हर शाखा का अपना अलग-अलग ध्येय वाक्य (Motto) है। इन सभी का अपना मतलब है, जो उस सेना की पहचान है। 

ये ऐसे वाक्य हैं जिनसे हमारी सेना का शौर्य और पराक्रम साफ झलकता है।

भारतीय नौसेना का ध्येय वाक्य है 'शन्नो वरुणः'।
इसका अर्थ - समुद्र के देवता हम पर कृपा करो। 

आइये... नौ सेना दिवस पर हम अपने साहसी नेवी जवानों को सैल्‍यूट करते हैं. उनकी सेवाओं और बलिदान ने हमारे देश को मजबूत और सुरक्षित किया है।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0