पुरुषों की सोच पर प्रहार करती पिंक

वैसे तो हम 21वी सदी में आ गए है। पुरुषों और महिलाओं की हर क्षेत्र में बराबरी की बात करते है पर पुरुषों के नजर में औरत के लिए मानसिकता में कुछ ज्यादा अंतर नही आया है।

पुरुषों की सोच पर प्रहार करती पिंक

वैसे तो हम 21वी सदी में आ गए है। पुरुषों और महिलाओं की हर क्षेत्र में बराबरी की बात करते है पर पुरुषों के नजर में औरत के लिए मानसिकता में कुछ ज्यादा अंतर नही आया है।

मैं बात कर रही हूं कुछ सालों पहले आई मूवी पिंक की। अमिताभ बच्चन और तापसी पन्नू स्टारर फिल्म पिंक पुरुषों के खिलाफ एक कड़ा संदेश देती है। जिसमे पुरूष और महिला को अलग अलग नजरिये से देखा जाता है।

जरूरी नही की हर फिल्म मनोरंजन के लिए बनाई जाए। कुछ ऐसी फिल्में भी होती है जो शानदार स्क्रिप्ट और जोरदार अभिनय के जरिये हमारी सोच को प्रभावित करती है। या यूं कहें कुछ फिल्में समाज का आईना होती है। पिंक भी एक ऐसी ही फ़िल्म है। इस फ़िल्म में बताया गया है कि ज्यादतर मर्द औरत के बारे में कैसी राय रखते है।

फिल्म देखने के बाद यह आपके दिलों दिमाग मे गहरा असर छोड़ जाएंगी। फ़िल्म के सभी अदाकारों ने दमदार अभिनय किया है। तापसी पन्नू महिलाओं पर केंद्रित इस फ़िल्म में अपनी गहरी छाप छोड़ी है। फ़िल्म में बताया गया है कि यदि कोई पुरूष अमीर और ताकतवर परिवार से होता है। तो पीड़ित महिला को न्याय की लड़ाई लड़ना कितना कठिन होता है। मूवी समाज की उस सोच पर भी सवाल उठाती है जो लड़कियों के पहनावे और उनके ड्रिंक करने पर उन्हें चरित्रहीन बताती है। ऐसे ही कई मुद्दे फ़िल्म में उठाये गए है। फ़िल्म इस बात का भी समर्थन करती है कि लड़कियों को कब, कहा, क्या और कैसे पूछने के बजाय अपनी सोच को बदलने की जरूरत है।

वैसे तो यह फ़िल्म 2016 में आई थी पर अगर आपने अभी तक इसे नही देखा है तो एक बार जरूर देखें। सिर्फ देखें ही नही बल्कि फ़िल्म क्या संदेश देना चाहती है उस पर विचार भी करें।

#बॉलीवुडतड़का

@बबिता कुशवाहा

Image credit:- Google 

What's Your Reaction?

like
3
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
2