शादी के बाद पहली रोमांचक यात्रा

शादी के बाद पहली रोमांचक यात्रा

शादी के बाद हम अपने हनीमून पर नहीं जा पाये क्योकिं शादी के कुछ दिनों बाद ही सासु माँ के पैर में फ्रैक्चर हो गया था इसीलिए पतिदेव ने घूमने जाना कैंसिल कर दिया था |पतिदेव और ससुराल वालों के साथ पहली बार मैं जयपुर गई क्योंकि इनके ताऊ जी की बेटी यानि मेरी ननद की बेटी की शादी थी |मम्मी पापा के पास मौसी जी को छोड़कर हम सब चार दिन पहले ही जयपुर के लिए निकल गये थे |जयपुर द पिंक सिटी के मनोरम दृश्यों को देखने के लिए ही हम 4 दिन पहले गये थे |साथ में मेरी ननदें जेठानी भी थी |शुरू के दो दिन हम एक पर्यटक की भांति जयपुर के विभिन्न -2 पर्यटन स्थलों पर घूमे और बाद के दो दिन शादी के कार्यों में व्यस्त रहे |जयपुर में हम निम्न स्थलों पर गये -

जन्तर मन्तर -जयपुर स्थित जन्तर मन्तर बहुत ही सुन्दर और मनोरम स्थान है |इसे खगोल शास्त्रीय वेधशाला के नाम से भी जाना जाता है |

बिरला मंदिर - जयपुर के बिरला मंदिर में भगवान लक्ष्मी नारायण की प्रतिमा ने मेरा मन मोह लिया और मुझे मेरे मायके वृन्दावन की याद दिला दी |बिरला मन्दिर में जाकर बडा़ ही सुकुन और शान्ति का अनुभन हुआ |

सिटी पैलेस - जयपुर का सिटी पैलेस वास्तव में बडा़ ही अदभुत और मनोरम है |सभी पर्यटन स्थलों में ये मुझे सबसे ज्यादा अच्छा लगा |राजशाही छवि को दर्शाता ये पैलेस अपने आप में ही विशिष्ट है |

अक्षरधाम मंदिर -जयपुर का अक्षयधाम मंदिर बहुत ही अदभुत और चमत्कारी था |इसकी मनमोहक आभा देखकर हम सबका मन बडा़ ही प्रसन्नचित हो गया था |

शीश महल - जयपुर के शीश महल में जाकर तो आने का भी मन नहीं हो रहा था |शीश महल बहुत ही सुन्दर लग रहा था |

जल महल -जयपुर के जल महल जैसा वातावरण इससे पहले मैंने कभी भी कहीं नहीं देखा था |ये जल महल जल में ही बना हुआ है और यही इसका सबसे विशिष्ट गुण है |इसे देखने के लिए दूर दूर से पर्यटक आते हैं |

नाहरगढ़ फोर्ट - ये फोर्ट अरावली पर्वत पर बना हुआ है और इसके मनोरम दृश्यों को देखकर कोई भी मोहित हो सकता है |यहां बहुत सारे विदेशी भी थे जो इस फोर्ट को देखकर प्रसन्न हो रहे थे |

हवा महल - हम सब हवा महल भी देखने गये और इसकी विशिष्टता को देखकर हम सब हतप्रभ रह गये थे |

चिड़ियाघर - मेरी जेठानी और ननदों के बच्चों की फरमाइश पर हमने जयपुर का चिड़िया घर भी देखा |वहां सब बच्चों के साथ हमने भी बहुत आनन्द लिया |

जयपुर -गुलाबी शहर की गुलाबी आभा बहुत ही सुन्दर थी और नये परिवार वालों के साथ मेरी ये पहली रोमांचक यात्रा थी सो मुझे बहुत ही मजा आया |हम महिलाओं ने वहां से रंग बिरंगी बांधनी की साड़ियां भी खरीदी और कुछ दुपट्टे भी |जितना भी समय हम सबने साथ में बिताया बडा़ ही मजेदार और रोमांचक था |आज भी जब याद करती हूँ तो दिल खिल उठता है |

धन्यवाद |

सीमा शर्मा पाठक

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0