भारतीय संविधान दिवस पर ,भारतीय संविधान की कुछ खास बातें !

भारतीय संविधान दिवस पर ,भारतीय संविधान की कुछ खास बातें !

आज पूरा देश संविधान दिवस मना रहा है. आज के दिन संविधान सभा ने इसको पारित किया था।
 आज के दिन आइए जानते हैं हमारे संविधान की कुछ  ऐसी बातें जो हर भारतीय को जरूर जाननी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अधिसूचना जारी कर 19 नवंबर 2015 को ये घोषित किया कि 26 नवंबर को देश संविधान दिवस मनाएगा।


*भारत का संविधान पूरे विश्व का सबसे बड़ा लिखा गया संविधान है। इसमें कुल 448 आट्रिकल, 22 भाग, 12 शेड्यूल और 97 अमेन्डमेंट है।

*भारतीय संविधान के हिंदी और अंग्रेजी के दोनों संस्करण हस्तलिखित थे. यह पृथ्वी पर किसी भी देश का सबसे लंबा हस्तलिखित संविधान है.भारतीय संविधान टाइप या प्रिंट नहीं है ।

*संविधान को बनाने में 2 साल 11 महीने और 18 दिन लगे। संविधान की दो कॉपी हाथ से लिखी गई हैं, जो हिंदी-अंग्रेजी में हैं। दोनों हस्तलिखित कॉपियों पर 24 जनवरी 1950 को तब के 308 संसद सदस्यों के सामने हस्ताक्षर किए गए।

*संविधान के निर्माण पर कुल 64 लाख रुपये का खर्च आया था।

*संविधान निर्माताओं ने लगभग 60 देशों के संविधानों का अवलोकन किया था और जिस संविधान में जो प्रावधान भारत के लिए सर्वश्रेष्ठ लगा उसे भारत के संविधान में शामिल कर लिया गया था।

*संविधान की आत्मा कहे जाने वाले Preamble यानी प्रस्तावना को अमेरिकी संविधान से लिया गया है. संविधान में प्रस्तावना की शुरुआत 'We the people' से होती है.


*भारतीय संविधान की वास्तविक प्रति प्रेम बिहारी नारायण रायजादा द्वारा हाथों से लिखी गई थी. इसे इटैलिक स्टाइल में काफी खूबसूरती से लिखा गया था जबकि हर पन्ने को शांतिनिकेतन के कलाकारों ने सजाया था।


विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत के निवासियों को 'राष्ट्रीय संविधान दिवस' की हार्दिक शुभकामनाएं। आइये आज हम संकल्प लें कि हम हमारे संविधान का सम्मान करेंगे, अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे एवं अपने अधिकारों के प्रति सजग रहेंगे।

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0