सुपर फूड और उसका इतिहास

सुपर फूड और उसका इतिहास

सुपर फूड क्या है ? इसे कैसे बनाते है ? व इसका इतिहास क्या है ? सुपर फूड की बात आते ही हम सभी के अंदर जिज्ञासा होती है कि वास्तव में कौन सा फूड है सुपर फूड ?

सुपर फूड का नाम है "खिचड़ी " और यह शब्द संस्कृत के शब्द खिच्चा से लिया गया है यह एक एंग्लो इंडियन डिश कुशरि से भी प्रेरित है हमारे भारत में खिचड़ी बहुत लोगों को पसंद है | खिचड़ी स्वास्थ्य के लिये लाभदायक व सेहतमंद भी है खिचड़ी कई प्रकार से बनाई जाती है जैसे दाल व चावल और हरी सब्जियों जैसे आलू, गोभी , मटर व मसालों के साथ मिलाकर बनाई जाती है तब उसका स्वाद दोगुना बढ़ जाता है | इसे दही, पापड़ , अचार व घी के साथ परोसा जाता है | हमारे भारत में व्रत के दिन भी कई लोग साबूदाने की खिचड़ी खाना पसंद करते 

  खिचड़ी को Global Food Expo के द्वारा आयोजित world Food India 2017 में भारत की ओर से सुपर फूड के रूप में पेश किया गया खिचड़ी को राष्ट्रीय पहचान दी गई क्योंकि इसे सभी लोग खाना पसंद करते हैं | खिचड़ी को बनाना बेहद आसान है व इसे बनाने में समय भी बहुत कम लगता है |

मीडिया ने खिचड़ी को India National Dish के नाम से मशहूर कराया है व सरकार ने इसे India' Super Food के तौर पर दुनिया के सामने रखा है इसकी आधिकारिक घोषणा 4 नवम्बर को की गई इसे queen of all food के नाम से भी जाना जाता है | लोकमान्यताओं के अनुसार मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी बनाने की परंपरा का आरंभ भगवान शिव ने किया था इसका इतिहास बहुत पुराना है | भारत के एक कोने में तो एक साल में एक बार खिचड़ी मेला भी लगता है|  खिचड़ी मुख्य रूप से बंगाल , बिहार , हरियाणा , झारखंड , गुजरात , उत्तरप्रदेश , मध्यप्रदेश व ओडिशा में बड़े चाव से बनाई व खाई जाती है |                                               

पौराणिक कहानी के अनुसार सुल्तान खिलजी ने जब आक्रमण किया तो उस समय नाथ योगी ने उनका डटकर मुकाबला किया व उनसे लड़ते लड़ते इतना थक जाते कि भोजन पकाने का भी समय नहीं मिलता था और उन्हें भूखा रहना पड़ता था तब एक दिन अपने योगियों की कमजोरी दूर करने करने के लिये बाबा गोरखनाथ ने दाल , चावल व सब्जियों को एकत्रित कर पकाने के लिये कहा तभी से खिचड़ी हम सभी के बीच आई | 1350 में सिरका में रहने के दौरान खिचड़ी का जिक्र किशरी के नाम से किया गया जिन्होंने चावल व मूंगदाल को बनाने की बात कही यह खिचड़ी मुगलकाल में भी बहुत प्रसिद्ध हुई बल्कि 16वीं सदी में मुगल शहशांह अकबर के वजीर "एन-ए-अकबरी" में भी खिचड़ी की रेसिपी का जिक्र किया गया था | खिचड़ी फर्स्ट सॉलिड बेबी फूड के नाम से भी जानी जाती है यह एक ऐसी साऊथ एशिया की डिश है जिसको दाल व चावल के साथ मिलाकर पकाते है कई जगह इसे बाजरा , मूंगदाल के साथ भी पकाया जाता है | खिचड़ी  छोटे बच्चों को भी आसानी से खिलाई जा सकती है |

खिचड़ी अमीर हो या गरीब सभी लोगों में सामान्य तौर पर सबसे ज्यादा खाये जाने वाले भोजन में से एक है | यह सभी देशो में प्रसिद्ध फूड है | पुरात्तवविदों के अनुसार खिचड़ी का इतिहास 2000 साल पुराना है |                                                   

पर्व मकर संक्राति के दिन खिचड़ी बनाई जाती है इस दिन खिचड़ी बनाने की परंपरा को शुरू करने वाले बाबा गोरखनाथ थे | खिचड़ी की गर्मी व्यक्ति को मंगल व सूर्य से  जोड़ती है | इस पर्व को खिचड़ी पर्व भी कहा जाता है | ऐसी मान्यता है कि इस दिन चावल , कालीदाल ,नमक ,हल्दी मटर व सब्जियां जिसमें फूलगोभी डालकर बनाई जाती है | चावल को चंद्रमा का प्रतीक माना गया है कालीदाल को शनि का प्रतीक माना गया है और हरी सब्जियों को बुध का | कहते हैं इस दिन खिचड़ी खाने से राशि में ग्रहों की स्थिति मजबूत होती है |

मकर संक्रांति के दिन प्रत्येक घरों में खिचड़ी बनाई जाती है | खिचड़ी को बीमारी के वक्त भी बनाकर खाया जाता है क्योंकि यह हल्का भोजन कहलाता है | कई लोग खिचड़ी को बाहर भी बनाकर खाना पसंद करते हैं | तो चलिये इस मकर संक्रांति के अवसर पर हम और आप सुपर फूड खिचड़ी का लुत्फ उठाते हैं |                                                                                                               

धन्यवाद                                                                   

रिंकी पांडेय

What's Your Reaction?

like
4
dislike
0
love
0
funny
1
angry
0
sad
0
wow
2