तू है मेरी फनटसी

तू है मेरी फनटसी

फिल्मों और मोडल्लिंग की दुनिया दुबली-पतली, साइज़ ज़ीरो वाले फिगर वाली कमसीन हसीनाओं के लिए विख्यात है। थोड़ा सा वजन क्या बढ़ा, कई हीरोइनों का तो मुंबई से बोड़िया-बिस्तर ही उठ गया।

लेकिन इस चकाचौंध कर देने वाली ग्लेमरस दुनिया में कुछ नाम ऐसे भी हैं, जिन्होनें अपने फिगर की परवाह किए बगैर अपने लिए बॉलीवुड और टीवी जगत में अपनी न केवल जगह बनाई, बल्कि कई पतली कमर वालियों को पीछे कर दिया।जिन्होनें फिगर बनाए रखने के चक्कर में न तो सर्जरी का सहारा लिया, न ही किसी और अप्राकृतिक तरीके का।

मैं ऐसी ही एक बॉलीवुड अदाकारा की बात कर रही हूँ,  जिनका नाम है विद्याबालन ।  अगर आपने परिणीता से लेकर तुम्हारीशुलु तक का इनको देखा है, तो आप इस बात से अनभिज्ञ नहीं हो सकते कि बॉलीवुड में अपना स्थान बनाए रखने के लिए विद्या ने अपने फिगर पर उतना भरोसा नहीं किया, जितना अपने हुनर पर।

TheDirty movie को तो कोई भूला ना होगा। क्या कमाल की अदाकारी दिखाई है। एक इवेंट के दौरान विद्या ने एक रिपोर्टर को खुब सुनायी। उस रिपोर्टर ने विद्या की बॉडी को लेकर एक सवाल पूछ लिया --रिपोर्टर ने विद्या से कहा, 'क्या आप अब सिर्फ महिलाओं पर आधारित फिल्में करेंगी या अपना वजन कम करने पर भी ध्यान देंगी।' ये सुनकर विद्या विद्या हैरान रह गईं। 

विद्या ने गुस्से में बोला, 'मैं जो कर रही हूं उससे बहुत खुश हूं। अगर आप लोग अपना नजरिया बदलेंगे तो बड़ी मेहरबानी होगी।' जब भी विद्या से बॉडी शेमिंग पर बात होती है तो हर बार वो गजब का जवाब देकर सबकी बोलती बंद कर देती हैं।

हाल ही में इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में विद्या ने कहा था, 'मैं बचपन में बहुत मोटी थी और खुश थी। मुझे लगता है मैं सुंदर थी। मैं घर पर बहुत एंज्वॉय करती थी। लेकिन जब मैं घर से बाहर निकलती थी तो लोग मुझसे कहते थे कि मुझे अपना वजन कम कर लेना चाहिए।'

विद्या ने आगे कहा था, 'जब मैं बड़ी हुई तो लोगों का अटेंशन ना मिलने पर परेशान होती थी। क्योंकि मैं मोटी थी। मुझे ऐसा लगने लगा था कि मैं वैसी नहीं हूं जो कोई भी लड़का मुझे अटेंशन दे। इसके बाद मैंने अपना वजन कम करना शुरू किया। मैंने अपनी जिंदगी में बहुत कुछ  बर्दाश्त किया। एक लंबे समय के बाद मुझे ये एहसास हुआ कि ये सब कभी खत्म नहीं होने वाला है

एक्ट्रेस बनने के बाद बहुत बार मुझे रोल के हिसाब से अपना वजन कम करना पड़ा। मैं पागलों की तरह अपनी बॉडी पर काम करती थी। लेकिन कुछ समय बाद मैं फिर से वेट गेन कर लेती क्योंकि मेरा बॉडी स्ट्रक्चर ही ऐसा है। मैं अपनी बॉडी के साथ खुश हूं। लोग तो बॉडी के बारे में कुछ ना कुछ बोलते रहेंगे। उनकी सोच कभी नहीं बदलेगी।'

उनके हिसाब से मैं फिट नहीं हूं। लेकिन मुझे लगता है कि मैं फिट हूं। मैं सच से भागना नहीं चाहती। मैं इसी के साथ जीना चाहती हूं। लोग तो रिजेक्ट करते रहेंगे। मैं अब उनके हिसाब से नहीं चल सकती।'

दोस्तों  हमें सिर्फ अपने शरीर के बारे में ही नहीं सोचना चाहिए बल्कि अपनी शख्सियत से जुड़े सभी पहलुओं पर गौर करना चाहिए शारीरिक सुंदरता ही सब कुछ नहीं है इसके अलावा भी आप किन चीजों में अच्छी हैं आपको पता होना चाहिए जब आप अपनी खूबियों के बारे में सोचेंगे और उन्हें विकसित करने पर काम करेंगी यह तो यह समस्या अपने आप दूर हो जाएगी ।

#NomoreBodyShaming 
#FatShaming


Click Here To See More

What's Your Reaction?

like
2
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0