आज की लड़की आसमान छू रही है

आज  की लड़की आसमान छू रही है

"

पंजाबी कुड़ी हरनाज़ ने चक दे फ़ट्टे इंडिया के नारे के साथ अपनी जीत का आगाज़ किया आज भारत का सौदर्य विश्व पटल पर अपनी नज़ाकत बिखराते गौरवान्वित होते देश का नाम रोशन कर रहा है। "21वीं सदी की लड़कियों का आत्मविश्वास आसमान छू रहा है, नूर हरनाज़ का देखकर हर लड़की का हौसला हिम्मत की चद्दर बुन रहा है" भारत की मिस इंडिया हरनाज़ संधू ने अपने आकर्षक और चुंबकिय व्यक्तित्व से तथा धैर्य और सुझ-बुझ से इस साल का मिस यूनिवर्स का ताज अपने नाम कर लिया है।


जजिस के द्वारा टॉप तीन प्रतियोगियों से सवाल पूछा गया था कि आप दबाव का सामना कर रहीं महिलाओं को क्या सलाह देंगी?

इस पर हरनाज़ संधू ने जवाब दिया, आपको यह मानना होगा कि आप अद्वितीय है, और यही आपको खूबसूरत बनाता है। भीतर से बाहर निकले और अपने लिए बोलना सीखें क्योंकि आप अपने जीवन के नेता है। इस आत्मविश्वास भरे जवाब के साथ ही हरनाज संधू ने इस साल का मिस यूनिवर्स 2021 का खिताब अपने नाम कर लिया।


चंडीगढ़ की हरनाज संधू को गुरुवार को मिस यूनिवर्स इंडिया 2021 का ताज पहनाया गया। मिस यूनिवर्स का प्रतिष्ठित खिताब अब भारत की हरनाज़ संधू के नाम हो गया है। जिसे कभी बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सेनन द्वारा सम्मानित किया गया था। जयपुर की सोनल कुकरेजा को फर्स्ट रनर अप ट्रॉफी और पुणे की रितिका खतनानी को मिस दिवा सुपरनैशनल 2022 का ताज पहनाया गया दिवा का खिताब एक स्टार-स्टडेड इवेंट में दिया गया था जिसमें कृति सेनन और मलाइका अरोड़ा सहित फैशन उद्योग और बॉलीवुड के लोकप्रिय नाम शामिल थे।


हरनाज़ के निज़ी शौक़ को जाने तो उनको अभिनय, गायन, नृत्य, योग, तैराकी, घुड़सवारी और खाना पकाने का शौक़ है। मिस यूनिवर्स इंडिया 2021 का खिताब पाने से पहले, वह टाइम्स फ्रेश फेस मिस चंडीगढ़ 2017 थीं। उन्होंने 2018 में मिस मैक्स इमर्जिंग स्टार इंडिया का खिताब जीता और बाद में फेमिना मिस इंडिया पंजाब 2019 बनीं हालाँकि, वह फेमिना मिस इंडिया 2019 में 11 स्थानों में आने से चूक गई। 30 सितंबर, 2021 को मुंबई में मिस दिवा 2021 में चंडीगढ़ का प्रतिनिधित्व करने के बाद हरनाज़ भारत की मिस यूनिवर्स 2021 की उम्मीदवार बनीं और जीत हासिल की।


हर लड़की के भीतर हिम्मत, हौसला और आत्मविश्वास का धुआंधार झरना बह रहा होता है। अपने हुनर को पहचान कर, तराश कर जो खुद को प्रस्थापित करती है वह आसमान को छूती है। जरूरत है परिवार के साथ और सहकार की अगर ये मिल जाए तो लड़कियां कहाँ से कहाँ पहुँचती है।



भावना ठाकर \"भावु\" (बेंगुलूरु, कर्नाटक)

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0