आम की खट्टी मीठी लौंजी

आम की खट्टी मीठी लौंजी

गर्मियों का समय है और इस समय आम खाने को मिल जाये तो वाह ! खाने का स्वाद और भी बढ़ जाता है |  इस समय आम आसानी से मिल जाता है आज हम बनायेंगे आम की खट्टी मीठी लौंजी ! लेकिन , इसे बनाने से पहले हम कच्चे आम के फायदे देख लेते हैं फिर हम बनायेंगे आम की खट्टी मीठी लौंजी।                    

कच्चे आम के फायदे :- आम को फलों का राजा कहा जाता है | कच्चे आम में विटामिन ए, ई और सी के अलावा कैल्शियम ,फास्फोरस और फाईबर जैसे पोषक तत्व पाये जाते हैं | कच्चे आम के सेवन से लू से बचाव किया जा सकता है | पेट की समस्याऐ दूर की जा सकती है व लीवर को भी मजबूती प्रदान होती है | ये तो थे कच्चे आम के फायदे |                                        

आवश्यक सामग्री :- दो बड़े कच्चे आम छीलकर बारीक टुकड़ों मे कटा हुआ , एक सूखी खड़ी लाल मिर्च , 4-5 कलियां लहसुन बारीक कटी हुई और एक हरी मिर्च बारीक कटी हुई |                

सूखे मसाले :- नमक स्वादानुसार , एक चौथाई चम्मच लाल मिर्च पाउडर , धनिया पाउडर , जीरा पाउडर ,राई के दाने , जीरा व एक चुटकी मेंथी दाना और एक चुटकी हींग , एक से दो चम्मच गुड़ ,एक से दो चम्मच कोई भी खाने का ऑयल व एक कप पानी |                                                                              

विधि :- 

पैन या कढ़ाई में दो चम्मच खाने का तेल गर्म होंने के बाद उसमें हींग , राई , जीरा व मेंथीदाना चटकायेंगे | सूखी खड़ी लाल मिर्च , बारीक कटी हरी मिर्च व लहसुन डालेंगें इसके बाद हम कटे हुए कच्चे आम डालकर एकसार करेंगें फिर हम उसमें स्वादानुसार नमक व सारे सूखे मसाले डालेंगें |           

अब हम उसमें पानी व गुड़ डालेगें और कढ़ाई को प्लेट से ढ़क देंगे | करीब दस मिनट तक मध्यम आँच पर पकायेंगे |  दस मिनट बाद हम प्लेट को हटाकर देखते हैं हमारे कच्चे आम पक जाते हैं तब हम उसे करछुली की सहायता से मैश कर लेंगे | मैश करने के बाद उसे करीब एक मिनट तक और पकायेंगे लीजिए तैयार है हमारे कच्चे आम की खट्टी मीठी लौंजी | इसे हम ठंडा करके कांच के बॉउल में रख लेंगें  |         

तैयार आम की खट्टी मीठी लौंजी को हम गर्मागर्म पूरी , परांठो व रोटी के साथ सर्व कर सकते हैं |                                        

स्पेशल नोट : बच्चों के लिये यदि हम कच्चे आम की खट्टी मीठी लौंजी बना रहें हैं तो मिर्च का प्रयोग कम करें | इसे हमेशा काँच के बर्तन में ही रखें | आम की लौंजी में हम गुड़ की जगह शक्कर का भी उपयोग कर सकते हैं |इसे फ्रिज में रखकर पूरे एक हफ्ते तक खाने में उपयोग में लाया जा सकता हैं |

धन्यवाद !! रिंकी प्रीति पांडेय !!

What's Your Reaction?

like
3
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
3