आपकी त्वचा और मसूर की दाल- Blog post by Archana Saxena

आपकी त्वचा और मसूर की दाल- Blog post by Archana Saxena

चेहरे पर निखार लाने के लिए आपकी रसोई में अनगिनत चीजें हैं। उन में से एक है लाल मसूर की दाल।


बेहद सेंसिटिव या मुहाँसों से भरी हुई त्वचा को छोड़ कर लाल मसूर की दाल का प्रयोग हर तरह की त्वचा वाले अलग अलग प्रकार से कर सकते हैं। यदि मुहाँसों की समस्या गंभीर नहीं है तो भी आप इसका प्रयोग कर सकती हैं परन्तु मुहाँसे भरे चेहरे पर उनके रगड़ खाकर फूटने का अंदेशा होता है जो तकलीफ पहुँचाता है


इसमें विटामिन्स, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है जो कि सेहत की दृष्टि से तो अच्छे हैं ही साथ ही त्वचा को बहुत लाभ पहुँचाते हैं।


इसे हमें किस प्रकार की त्वचा पर कैसे प्रयोग करना चाहिए आज इसी पर बात करते हैं।


मसूर की दाल को आप चाहे तो सूखा पीस कर पाउडर बना कर पहले से रख सकती हैं या कुछ देर पहले ताजा भिगो कर पीस कर प्रयोग में ला सकती हैं।


स्क्रब-

मसूर की दाल के पाउडर को दूध के साथ भिगोकर गाढ़ा पेस्ट तैयार करें। दस मिनट फूलने दें फिर चेहरे पर लगा कर पन्द्रह मिनट छोड़ें। फिर हल्के हाथों से गोल गोल मालिश करें। उतार कर चेहरा धो लें।

इसमें ब्लीचिंग एजेंट भी हैं जो चेहरे पर ग्लो देते हैं। साथ ही इसके प्रयोग से ब्लैक हेड्स व्हाइट हेड्स की समस्या से छुटकारा मिलेगा।


टैनिंग-

इसके पाउडर में थोड़ा सा बेसन और मिल्क पाउडर मिला कर पानी से घोल लें। फिर चेहरे पर बीस मिनट लगा कर रखें। लाभ होगा।


टाइटनिंग-

असमय पड़ी झुर्रियों को कम करके त्वचा में कसाव लाने के लिए एक चम्मच मसूर की दाल में एक अन्डे की सफेदी मिला कर थोड़े से दूध में घोल लें।

इस मिश्रण को बीस मिनट के लिए लगा कर रखें। फिर धो लें।


रूखी त्वचा-

रूखी त्वचा पर मसूर की दाल के पाउडर को दूध में घोल कर एक चम्मच शहद उसमें मिला कर लगाएँ।


तैलीय त्वचा-

आप सिर्फ पानी में घोल कर मसूर की दाल का प्रयोग करें। चाहे तो आधा चम्मच मुल्तानी मिट्टी मिला सकती हैं।


सामान्य त्वचा -

सामान्य त्वचा में आप इसे दूध या दही के साथ मिलाएँ। थोड़ा गुलाब जल भी प्रयोग करें।


कोई भी उपाय सप्ताह में एक बार अपनाना पर्याप्त होगा।


अर्चना सक्सेना

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0