अजब गजब परम्परा-होली पर दामाद जी को कराई जाती है गधे की सवारी

अजब गजब परम्परा-होली पर दामाद जी को कराई जाती है गधे की सवारी

रंगों का त्योहार ‘होली’ को पूरे भारत में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। फाल्गुन माह की पूर्णिमा के दिन होलिका दहन और उसके दूसरे दिन होली खेली जाती है. इस साल होली का त्यौहार18 मार्च को है। 


होली के त्यौहार पर मजाक और मसखरी की भी कुछ अजब गजब परम्पराये हैं जिनमें से एक महाराष्ट्र के एक जिले के एक गांव में एक अजीबोगरीब होली परंपरा है जो 90 से अधिक वर्षों से चली आ रही है।

गांव के नए नवेले दामाद को महाराष्ट्र के बीड जिले में गधे की सवारी कराते है और उनके पसंद के कपड़े मिलते हैं. जिले की केज तहसील के विदा गांव में इस रस्म का पालन किया जाता है. गांव के नए दामाद की पहचान करने में तीन से चार दिन लग जाते हैं. गांव वाले उस पर नजर रखते हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वह होली के दिन लापता न हो जाए. वह दामाद इस रस्म में शामिल हो, इसलिए उसे कहीं जाने नहीं देते।


यह परंपरा करीब 80 साल से निभाई जाती रही है. जानकारी के मुताबिक आज से करीब 80 साल पहले इस गांव के देशमुख परिवार के एक दामाद ने होली में रंग लगवाने से मना कर दिया. दामाद को खूब मनाया गया मगर वो नहीं माना. अंत में फूलों से सजा हुआ एक गधा मंगवाया गया और उस पर दामाद को बैठाकर पूरे गांव में घुमाया गया. यही नहीं दामाद को मंदिर ले जाया गया. साथ ही उपहार में नए कपड़े और सोना दिया गया. तब से लेकर आज का दिन है. यह अनूठी परंपरा लगातार जारी है।

 हर होली पर नए दामाद के साथ होली पर यह परंपरा निभाई जाती है।


आप भी होली से जुडी ऐसी ही किसी अजब गजब परम्परा के बारे में जानते हो तो कमेंट बाक्स में हमें बताना ना भूले!

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0