अक्षरा : भारतीय बहुओं के लिए एक त्रासदी !

अक्षरा : भारतीय बहुओं के लिए एक त्रासदी !

अपुन बोलती है... अगर बागबान ने अपने देश के लड़को की जिंदगी झंड कर दी ,ठीक उसी माफिक से ये रिश्ता क्या कहलाता है वाली बहु अक्षरा ने भारतीय बहुओ के लिए जिंदगी चरस कर दी बोले तो जिंदगी हराम कर दी | अभी हर सासु को लगता है के उसको अक्षरा जैसी बहुइच  ही मिले और नैतिक जैसा बेटा| ये बात कोईच नहीं मानता के उसको इत्ता बहु वाली नौटंकी करने का कड़क कड़क रोकड़ा मिलता होएंगा |  लोग अक्षरा को पसंद करता हैं , अपुन जानती लेकिन बीडू लोग मेरे को बताओ इतना ओवरएक्टिंग कौन करता रे , इतनी परफेक्ट बहु कैसेइच कोई हो सकता हैं , ये अपुन के भेजे में नहीं आता | मतलब साला , वो अंग्रेजी का कहावत हैइच न  "too good to be true" , मतलब या तो अक्षरा एलियन थी , या ऑडियंस ऐड़ा हैइच , एक बात को पक्का सही है बावा , बोलती है अपुन | पूरा सीरियल ही बकवास था | 

अपुन तुमको कुछ फैक्ट्स देंगी इस घटिया सीरियल के बारे में , तुम खुदइच फाइनल करने का ,ये इस मनहूस सीरियल का रियलिटी से घंटा कुछ लेना देना नहीं हैं और अपुन कभीच झूठ बोलती  नहीं :

१- छोटी छोटी बातों का पंगा : अबे गिर गई चाय , गिर गया पानी , एक दिन कोई बेचारा रह गया सोता हुआ तो क्या हो गया | जान ले लोगे उसकी क्या? काला पानी भेज दोगे क्या उसको , हैं ? फाँसी पर चढ़ा दोगे क्या उसे ? कौन बावला इतना लोड लेतीच इन छोटा छोटा बातों का , बताओ मेरे को |  कतई कलेश है यार | 

२- चालबाजी : इसका पति उसका , उसका पति मेरा, इसका मर्डर , उसकी आत्महत्या, साला किस फॅमिलीइच  में इतना रायता फैला होता है, मेरे को बताओ ?  मतलब इनकी चालबाजियां देखकर आदमी अपने माँ-बाप पर शक कर ले |  लड़के का नाम नैतिक रख दिया है अबे तो कभी नैतिकता से काम भी लो | 

३- कितनी शादी : इस कहानी में सारेिच बन्दों को शादी करने का भारी शौक है , कभीच इसकी शादी कभी उसकी शादी , कभीच खिलोनो का शादी कभी डबल  डबल वाला शादी | सबकी छोड़ो चलते प्लेन में कौन शादी करता हैं ? साला यहाँ बन्दियाँ एक शादी से परेशां हैं यहाँ हर आदमी शादी पे शादी पेल रहा हैं | 

४-दोगलापन  : जो आदमी ज्ञान की बात करता है साला अपना टर्न आने पर सबसे पहले पलटी मारता हैं | और साला ये कौन कह कर मर गया के बड़ा अगर कोई  गलत बात भी कहे तो तुमको करना पड़ेगा , अबे आदर अलगीच चीज है और सही गलत अपनी जगह | 

५-संस्कारो का नाला : संस्कारो के नाम पर हर वक्त झुकी नजरों से इच बात करना, कभी नहीं चिल्लाना , कभी गुस्सा नहीं करना, ये सब बताया है अबे तो बावली भैंसो  ये भी बता देते कि दूसरे के पति पर लाइन मरना , घर वालों के मर्डर का सोचना भी गलत है | 

सबसे वाहियात और घटिया सीरियल का अवार्ड केवल इसीकोईच मिलना मांगता है बीड़ू , बोले तो कतई पकाऊ सीरियल | 

जल्दी से शेयर करो , अगर तुम अक्षरा नहीं है , बाकी जो अक्षरा है वो अपने काम में लगी रहें  | अपुन चलती है , टाटा बाये बाये। 

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
3
angry
0
sad
0
wow
1