अमिताभ बच्चन की पहली नौकरी और एक दुर्घटना को याद दिलाती फिल्म काला पत्थर

अमिताभ बच्चन की पहली नौकरी और एक दुर्घटना को याद दिलाती फिल्म काला पत्थर

देश में जब भी कोई खदान हादसा होता है, ‘काला पत्थर’ का जिक्र जरूर आता है। 


27 दिसंबर 1975 के दिन एक ऐसा हादसा हुआ, जिसने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया। इस हादसे में कुछ मिनटों में 375 से ज्यादा लोगों की कोयले की खान में जल समाधि बन गई थी। सच्ची घटना पर आधारित इस फिल्म में हादसे के सीन को देखकर आज भी लोग सहम जाते हैं। 


चासनाला खदान में हुए हादसे को यश चोपड़ा ने 'काला पत्थर' फिल्म के माध्यम से सबके सामने रखा। उनकी बनाई एक फिल्म ने देश ही नहीं बल्कि पूरी देश को झकझोर दिया था।


बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘काला पत्थर’ के मंगलवार को 42 साल हो गए। इस मौके पर बच्चन ने याद किया कि वह फिल्म जगत में आने से पहले कैसे कोयले की खदानों में काम करते थे।


इस फिल्म के निर्माता एवं निर्देशक यश चोपड़ा थे और फिल्म की कहानी सलीम-जावेद ने लिखी थी। कहा जाता है कि 1979 में आई यह फिल्म 1975 की चासनाला खान त्रासदी पर आधारित है। इस हादसे में बाढ़ आने के बाद खदान में विस्फोट हो गया था, जिसमें 375 लोगों की मौत हो गई थी।


अमिताभ बच्चन ने अपनी इस पुरानी फिल्म का जिक्र कर उसे चर्चाओं में ला दिया. अमिताभ ने एक सोशल पोस्ट में कुछ तस्वीरें साझा करते हुए बताया कि उनकी फिल्म काला पत्थर को रिलीज हुए 42 साल हो गए हैं।


अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर फिल्म काला पत्थर के तीन पोस्टर्स को साझा किया है। इन तीनों पोस्टर्स में अमिताभ बच्चन अलग-अलग लुक में नजर आ रहे हैं। फिल्म काला पत्थर के इन सभी पोस्टर्स को साझा करते हुए अमिताभ बच्चन ने खास पोस्ट भी लिखा है।


उन्होंने पोस्ट के जरिए अपनी पहली नौकरी को भी याद किया है। अमिताभ बच्चन ने पोस्ट में लिखा, 'काला पत्थर के 42 साल..!!! ओह !!! कुछ समय बीत गया.. और मेरे निजी अनुभवों से फिल्म में कई घटनाएं हुईं, जब मैंने अपनी कोलकता की कंपनी के कोयला विभाग में काम किया। फिल्मों में शामिल होने से पहले मेरी पहली नौकरी... वास्तव में मैंने धनबाद और आसनसोल की कोयला खदानों में काम किया...'

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0