एक महान व्यक्तित्व- श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी

एक महान व्यक्तित्व- श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी

आज 25 दिसंबर को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेई जी की जयंती पूरा देश मना रहा है। भारत माता के सच्चे सपूत, भारत रत्न अपने नाम के जैसे ही इरादों में भी अटल थे उन्होंने अपना जीवन भारत देश के विकास एवं उत्थान के लिए जिया। उनका जन्म ग्वालियर, मघ्यप्रदेश में एक ब्राह्मण परिवार में 25 दिसंबर 1924 को हुआ। उनके पिता जी का नाम श्री कृष्ण बिहारी वाजपेयी और माता जी का नाम श्रीमती कृष्णा देवी है।

अटल जी बहुत ही सुनते हुए राजनीतिज्ञ, एक महान राजनेता थे भारतीय राजनीति का पितामह भी कहा जाता है। वह अपनी राजनीतिक समझ और भाषण देने के अलग अंदाज के लिए माने जाते थे।

अटल जी भारतीय जनसंघ के संस्थापकों में से एक थे । राष्ट्रीय सेवक संघ के प्रचारक के रूप में उन्होंने आजीवन अविवाहित रहने का संकल्प लिया और उसे निभाया भी। अटल जी चार दशकों तक भारतीय संसद में दशहरे। वह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार के पहले प्रधानमन्त्री बने । उन्हें तीन बार प्रधानमंत्री पद के लिए शपथ लेने का अवसर मिला जिसमें उनके कार्यकाल एक 13 दिन, दूसरी बार 13 महीने और फिर पूरे पांच साल तक रही । और एक गैर कांग्रेसी प्रधानमन्त्री पद के रूप में उन्होंने 5 साल बिना किसी समस्या के पूरे किए ।

एक सफल राजनीतिज्ञ, अपने शब्दों और वाकपटुता के लिए देश-विदेश में लोहा मनवाने वाले अटेंड से हृदय से बहुत ही संवेदनशील कवि एवं लेखक थे। वह एक बहुत ही अच्छे वक्ता थे, उन्होंने अपनी रचनाओं के द्वारा हमेशा ही भारत माता का गुणगान किया। उन्होंने राष्ट्र भावना से प्रेरित राष्ट्रधर्म, पांचजन्य और वीर अर्जुन आदि पत्र-पत्रिकाओं का सम्पादन भी किया ।

उन्होंने 2005 में राजनीतिक जीवन से संन्यास ले लिया और एक लंबी बीमारी के बाद 16 अगस्त 2018 को अटल जी अपनी जीवन यात्रा पूरी करके दुनिया से हमेशा के लिए विदा हो गए।

मधु धीमान

कैथल-हरियाणा

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0