लड़की के साथ भरी भीड़ में मार पीट करना कितना उचित ?

लड़की के साथ भरी भीड़ में मार पीट करना कितना उचित ?

क्या हो गया है लोगों की मानसिकता को, हर बात पर सोचे समझे बगैर प्रतिक्रिया देना और समाज सेवा का ठेका मानों उनके ही सर हो ऐसे निकल पड़ते है कमज़ोर लोगों पर अपनी धौंस जमाने। खुद का घर संभालने में भले ही नाकाम हो, पर दूसरों के मामले में टांग अड़ाते मध्यस्थी करने पहुंच जाते है।

राजस्थान के भरतपुर में एक प्रेमी जोड़े को एकांत में बैठकर बातें करना बहुत भारी पड़ा। जब वे दोनों बातें कर रहे थे तभी वहां के लोगों की नजर उन दोनों पर पड़ी और फिर लोगों ने प्रेमी जोड़े के साथ मारपीट शुरू कर दी। यह मामला तब सामने आया जब कुछ लोगों द्वारा एक लड़की की पिटाई करने और उसे गाली देने से संबंधित एक वीडियो सोशल मीडिया सोश्यल मीडिया पर वायरल हो गया।

वायरल वीडियो में दिख रहा मंजर बेहद भयावह है। लोग लड़की को खींचकर उसकी पिटाई कर रहे हैं और दुपट्टे से अपना चेहरा छिपा रही लड़की से उसका दुपट्टा भी खींच रहे हैं। भीड़ के इस निरंकुश इंसानों का खौफ लड़की के चेहरे पर साफ देखा जा सकता है। और ताज्जुब की बात है कि लड़की को बचाने की बजाय उसका प्रेमी फरार हो गया। ऐसे लड़कों से क्या उम्मीद कर सकती है लड़कीयाँ, ऐसे लोग ज़िंदगी भर क्या ख़ाक़ साथ निभाएंगे।

कम उम्र में ऐसे लड़कों के चक्कर में फंस कर लड़कियां अपनी ज़िंदगी खराब कर लेती है और अपने माँ बाप की इज्जत भी निलाम करवाती है। और फिर किसने हक दिया लोंगों को, ये लड़की की खुद की ज़िंदगी है, उनके माँ बाप या भाई का और उनके घर का निजी मामला है। किसीकी बेटी को यूँ बेरहमी से पिटना कहाँ का न्याय है। इसे वहशिपन की इन्तेहाँ नहीं तो और क्या कह सकते है। 
राजस्थान में गुंडागर्दी का यह पहला मामला नहीं है, पहले भी इस तरह के कई मामले सामने आए हैं।

भरतपुर में प्रेमी जोड़े के साथ हुई मारपीट की घटना का यह वीडियो एक सप्ताह पुराना बताया जा रहा है। पर अब तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जिला एसपी देवेंद्र बिश्नोई ने बताया कि इस मामले की जांच की जाएगी और पुलिस स्टेशन इंचार्ज को पहले ही जांच और कार्रवाई करने का आदेश दे दिया गया है।

पुलिस का फ़र्ज़ बनता है कि असलियत की निष्पक्ष जाँच करके लड़की के साथ मार पीट करने वालों के ख़िलाफ़ सख़्त कारवाई कि जाए ताकि आगे जाकर किसी की बहन बेटीयों पर हाथ उठाने से पहले सौ बार सोचें।

(भावना ठाकर, बेंगुलूरु)#भावु

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0