बेटी - एक अनमोल तोहफा

बेटी - एक अनमोल तोहफा

मेरी प्यारी बिटिया,

सदा खुश रहिए।

आज ये खत लिखने की खास वजह है, कई बार कुछ बातें करने में हम सहज नहीं हो पाते,पर हो सकता है कि मेरे व्यवहार में आपको दिखता होगा ।उसे लिख के आप तक पहुंचाना चाहती हूं।  

एक स्त्री का सबसे अहम किरदार वो तब निभाती है जब वो बेटी के रूप में होती है। एक मां की सच्ची सहेली ,घर की बुलबुल,पापा की लाडली और घर की चहकती सी चिड़िया। आप बेटी हो ,पर हमेशा ध्यान रखना कि बेटियां भले कोमल हों पर इतिहास गवाह है स्त्री की शक्ति को हर युग ,काल में अनुभव किया है और हर क्षेत्र में लड़कियों ने लोहा मनवाया है ।इसलिए कभी भी खुद को कमजोर मत समझना ,परंतु कभी भी किसी पर अत्याचार भी मत करना । हां मेरा सख्त होना आपको पसंद नही आता ,पर मैं आपको हमेशा निडर ,स्वाबलंबी लड़की के रूप में देखना चाहती हूं। 

सक्षम बनना ,संस्कारी बनना ,मगर गलत को मत सहना। मेरी हर बेटी से कुछ अपेक्षाएं हैं। कुछ पंक्तियों द्वारा साझा कर रही हूं । 

सुनो बेटी!  

तुम अनमोल हो गहना ,

सदा सबका मान रखना ,

पढ़ना ,लिखना संस्कारी बनना,

कभी किसी का अपमान न करना ।

चाहे कोई राह पकड़ना ,

संगति हमेशा अच्छी रखना ।

प्रेम, समर्पण , त्याग सीखना ,

पर गलत देख चुप न रहना।

अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठाना,

पर कभी किसी पर अत्याचार न करना ।

घर हो या बाहर,निडर बन कर चलना ।

फूलों सा कोमल दिल रखना, 

पर संघर्ष हमेशा डटकर करना।

तुम संसार की हो सुंदर कृति,

पत्नी,बहन या हो जननी,

सदा ही सदाचार से रहना,

महत्वपूर्ण है तेरा हर किरदार,

करना ऐसे काम,

तुझसे ले प्रेरणा संसार।

एक बेटी के लिए मां के हृदय में आशीष,प्रेम और चिंता रहती है। मैं चाहती हूं कि आप सशक्त ,सम्पूर्ण और हृदय से कोमल बनो।मुझे आपके लिए कभी सोचना ना पड़े ।आप दूसरों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बने पर खुद के लिए हमेशा गर्व महसूस हो। आप खुद से संतुष्ट हो ,खुश हो और संसार में खुशियां बाटों।

आपकी मां    

#बेटी 

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0