फलसफा जिंदगी का

फलसफा जिंदगी का

# पोएट्री चैलेंज

#thursdaypoetry 

#जिंदगी_एक_शतरंज

समझ आ जाए हर किसी को जरूरी यह बात नहीं

है यह जिंदगी एक शतरंज की बिसात नहीं

कहीं सुख की आस कहीं दुख का लिबास है

कभी हिम्मत और हौसलों का आगाज है

जिनकी निभ गई उनके लिए अभिमान है

जिनकी कट गई उनके लिए अंजाम है

पूछो कीमत उनसे इसकी

जिनके लिए कुछ और दिन जीने का अरमान है

कुछ के लिए तो है ये खेल शतरंज का

जो बस चाल चले जा रहे हैं

जीतने के लिए बाजी प्रपंच से सत्य को छले जा रहे

हैं

लिए उनके जिंदगी बस जीत और हार का सबब है

भूल जाते वो कि सत्य ही सर्वस्व है

पलटते बाजी असत्य की नहीं लगती देर है

पल भर में हो जाता सारा घमंड ढेर है

फलसफे जिंदगी के करते अक्सर हैरान हैं

कुल मिलाकर ये हमारे कर्मों के परिणाम हैं  

 

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0