गुरु नानक देव जी के 11 अनमोल विचार

गुरु नानक देव जी के 11 अनमोल विचार


सिख धर्म संस्थापक और सिखों के प्रथम गुरु, गुरु नानक देव जी की जयंती हर साल कार्तिक माह के पूर्णिमा तिथि को प्रकाश पर्व के रूप में मनाई जाती हैं।

गुरु नानक देव जी का जन्म कार्तिक पुर्णिमा को हुआ था. नानक देव जी ने समाज को जागरूक करने के लिए काफी यात्राएं की।


गुरु नानक जी का कहना था कि भगवान एक है, लेकिन उसके कई रूप हैं. वो सभी का निर्माणकर्ता है और वो खुद मनुष्य का रूप लेता है. गुरु नानक के विचारों ने लाखों लोगों के जीवन को प्रभावित किया।


आज के समय में भी नानक देव जी के विचारों को अपनाकर लोग अपने जीवन में बदलाव ला सकते हैं. आइये जानते हैं गुरु नानक जी के विचारों के बारे में...


1-संसार को जीतने के लिए अपनी कमियो और विकारो पर विजय पाना भी जरूरी है ।


2-सिर्फ वही शब्द बोलना चाहिए जो शब्द हमे सम्मान दिलाते है । 


3-अगर किसी दूसरे का दुःख देखकर आपको भी दुःख होता है , तो समझ लेना भगवान ने आपको इंसान बना कर कोई गलती नही की ।


4-कभी भी, किसी का हक, नहीं छीनना चाहिए।


5-जिसे खुद पर विश्वास नही है वह कभी भगवान पर विश्वास कर ही नही सकता।


6-जब भी किसी को मदद की आवश्यकता पड़े, हमे कभी भी पीछे नही हटना चाहिए।


7-कोई भी राजा कितना भी धन से भरा क्यू न हो लेकिन उनकी तुलना उस चीटी से भी नही की जा सकती है ।


8-जिसमे ईश्वर का प्रेम भरा हुआ हो.भगवान उन्हें ही मिलते है जो प्रेम से भरे हुए है।


9-यदि तू अपने दिमाग को शांत रख सकता है,

तो तू विश्व पर विजयी होगा।


10-कठिनाईयों से भरी इस दुनिया में जिसे अपने आप पर भरोसा होता है, वही विजेता कहलाता है।


11-धन को केवल जेब तक ही रखें, उसे अपने हृदय में स्थान ना दें। जो धन को हृदय में स्थान देता है, हमेशा उसका ही नुकसान होता है।


यह थे नानक देव जी के अनमोल विचार आप भी इन्हें अपने जीवन में अपना कर देखें।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0