गुदरी #मेरी रसोई से कुछ स्पेशल सर्दियों के लिए

गुदरी #मेरी रसोई से कुछ स्पेशल सर्दियों के लिए

सर्दी मेरा पसंदीदा मौसम।वो कोहरे की चादर ओढ़ कर आती सुबह और उसके बाद गुनगुनाती धूप जो गर्मियों में सबसे बड़ी दुश्मन होती है उससे एक प्यारा सा रिश्ता बन जाता है। खानों की इतनी वैरायटी कि हर समय खाते रहो। गजक रेवड़ी, मूंगफली , तिल के लड्डू ,गाजर का हलवा , सरसों का साग और इन्हीं वैरायटी में सर्दियों की खास शान है मटर ,जिसके साथ मिले स्वाद बना दे जैसे मटर पुलाव, मटर पनीर , निमोना और उस पर उसको साथ मिल जाए आलू का तो सोने पर सुहागा।


तो आइए आज मैं आपको अपनी मम्मी की एक स्पेशल रेसिपी बताती हूँ जो बहुत ही टेस्टी है इसको आप खाली चाट की तरह भी खा सकते हैं या फिर रोटी के साथ भी।इसको हम गुदरी कहते हैं यह पूर्वी उत्तर प्रदेश की डिश है।


सामग्री


आलू बारीक कटे हुए

मटर

हरी मिर्च स्वादनुसार


नमक स्वादानुसार

अमचूर स्वादानुसार


विधि: सब से पहले कढ़ाई में तेल डालें और गर्म होने पर उसमें हरी मिर्च डाले उसके बाद उसमें बिल्कुल बारीक कटे हुए आलू डालें थोड़ा सा फ्राई होने पर उस में मटर डाल दें। ध्यान रखें मटर की मात्रा आलू से दुगुनी होनी चाहिए चाहे तो आप बिना आलू के भी बना सकती हैं। पर हम आलू के साथ बनाते हैं।

उसके बाद उसमें नमक और अमचूर स्वादानुसार डालें और धीमी आंच पर गलने दे पानी न डालें। मिर्च तेज खाते हो तो लाल मिर्च भी डाल सकते हैं।अगर आप ज्यादा चटपटा खाते हो तो अमचूर ज्यादा कर सकते हो मुझे ज्यादा पसंद है और मैं तो ऊपर से नींबू भी निचोड़ थी हूँ ।


बनने के बाद आप इसको हरे धनिये की चटनी के साथ सर्व करें मजा ही आ जायेगा । बनायेगा जरूर और फिर बताना कि कैसी लगी।


#मेरी रसोई से कुछ स्पेशल सर्दियों के लिए

#सर्दियों की गर्माहट 


मौलिक

स्मिता चौहान

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0