हिन्दी वर्णमाला

हिन्दी वर्णमाला


हिन्दी वर्णमाला

क -से कसूर मेरा क्या था,
ख- से खोखले वादे तुने किए
ग -से गैरों संग चल दिए छोड़कर
घ -से घायल था मैं तेरे प्यार में
ड़ -खाली देती है रकीबो के हाथ पे ताली

च - से चंचलता तेरी मुझे भायी
छ- से छल गई तेरी बेवफ़ाई
ज- से ज़ुल्म तुने किया बहुत
झ-- से झांक कर एक बार दिल में देख
ञ - खाली देती है रकीबो के हाथ पे ताली
ट - से टांका गैरों संग लड़ाती
ठ- से ठुमक कर हमें तड़पाती
ड- से डोलती तु एक जगह ना ठहरती
ढ - से ढपली सी हर हाथ बजती
ण - खाली देती है रकीबो के हाथ पे ताली

त- से तन का नहीं था साथ हमारा
थ - से थम जाएगा तुम बिन ये दिल बेचारा
द - से दिल में तुझे बसाया था
ध- से धड़कन अपनी बनाया था
न - से तुने मुझसे ना निभाई
प - से पागल हुआ मैं तेरे लिए
फ- से फलक से चांद भी ला दूं तेरे लिए
ब- से बगैर तेरे जीवन मेरा सूना
भ- से भा गया कोई और मुझे लगाया चूना
म- से मस्त तेरी अदाएं हैं
य- से यारी पक्की रखनी चाहिए
र- से रब से थोड़ा डरना चाहिए
ल- से दिल में और, लबों पर और, तेरे
व - से वाह, वाह की है लगी लत तुझे
श- से शरमो-हया का चोला उतार कर
ष - से षड्यंत्र औरों संग रच कर
ह- से हृदय को मेरे तोड़ दिया
क्ष- से क्षण भी ना सोचा तुने
त्र- से त्रिलोक में बस तुझे ही चाहूं
ज्ञ- से लेखन का ज्ञान गुणीं जनों से मिला
शुक्रिया आप सब गुणीं जनों का,
जिनकी वजह से आज कुछ मैं लिख पाया ???

प्रेम बजाज ©®
जगाधरी ( यमुनानगर)

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0