किसी की बेटी बहू ,पत्नी या मां बनकर नहीं बल्कि मैं बनना चाहती थी कविता सिंह

किसी की बेटी बहू ,पत्नी या मां बनकर नहीं बल्कि मैं बनना चाहती थी कविता सिंह

मैं कविता सिंह आप सबके साथ अपने लेखन के सफ़र को साझा करना चाहती हूं कि कैसे मैंने एक बेटी, बहू , पत्नी और मां की जिम्मेदारी निभाते हुए एक लेखिका बनने का सफर भी तय किया। उपन्यास , मैगज़ीन या हिंदी में किसी भी प्रकार का लेख पढ़ना मुझे बहुत पसंद है। 


ये पसंद एक दिन मेरा शौक बन जाएगा इससे मैं अंजान थी। आज हमारे देश में कई तरह के बदलाव देखे जा रहें हैं,आज हर कोई अपनी पहचान बनाना चाहता है अपने सपने का जीना चाहता है।


मैं भी अपनी पहचान ,अपना नाम बनाना चाहती थी। मै किसी की बेटी ,बहू , पत्नी या मां बनकर नहीं बल्कि मैं, मैं बनना चाहती थी कविता सिंह।


अपनी मातृभाषा में अपनी पहचान बना पाऊंगी ये मैंने कभी नहीं सोचा था क्योंकि आज-कल ज़्यादातर लोग इंग्लिश में बात करना, पढ़ना और लिखना पसंद करते हैं।


पढ़ने का शौक तो मुझे था ही पर लिखने का हुनर मुझे आप सबसे मिला, आप सब जो हमारे लेख को पढ़ते हैं उसकी सराहना करते हैं और विजेता बनाकर हमें लिखने के लिए प्रेरित करते हैं। आज सोशल मीडिया पर ऐसे मंच है जो मुझ जैसी गृहिणियों और कामकाजी महिलाओं को भी अपने शौक , अपने हुनर को पहचानने का उसे निखारने का मौका देती है।


मैं पिंक कॉमरेड मंच से दो साल से जुड़ी हुई हूं और इन दो सालों में मैंने लेखन के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है ,एक लेखिका ,एक ब्लॉगर के रूप में। मैं भी आप सबकी तरह अपने इस हुनर से अंजान थी ।मैं जब पिंक कॉमरेड मंच से जुड़ी तो मुझे बहुत अच्छा लगा क्योंकि ये मंच औरतों के बारे में खुलकर बात करती है , अपने लेख के जरिए उन्हें प्रोत्साहित करती है ताकि वो आगे बढ़े। 


पिंक मंच पर आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं का विषय ऐसा रहता है जिस पर लेख लिखना बहुत अच्छा लगता है क्योंकि कभी कभी कुछ विषय ऐसे होते हैं जिस पर हम खुलकर बात नहीं कर पाते तब हम लेख के जरिए अपनी बातों को लोगों तक पहुंचा पाते है। 


ये सफर इतना आसान नहीं था क्योंकि अपनी बात रखने के लिए एक मंच भी चाहिए जहां हम खुलकर हर विषय पर अपनी बात कर सकें, उस पर लिख सके और इन सब के लिए मैं पिंक कॉमरेड की फाउंडर वाणी भारद्वाज जी को धन्यवाद करना चाहूंगी जिनकी वजह से आज मैं एक गृहिणी से एक लेखिका बन पाई हूं।


अंत में आप सभी पाठकों की मैं आभारी हूं क्योंकि आपके प्यार के कारण ही मुझे पिंक क्वीन ऑफ द मंथ बनने का अवसर मिला ,आप सब यूंही इस मंच से जुड़े रहे और अपना प्यार बनाएं रखें।

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0