"माँ की महिमा"

"माँ की महिमा"

"देवी पूजा की चारों ओर धूम है,                                     मन सबका मंगल गीतों से झूम-झूम है,                            मंदिर से पंडाल हर जगह माता का रूप है,                      सजा है दरबार माता का फल है फूल है,                          नन्ही-नन्ही बच्चियाँ धरी माता का स्वरूप हैं,                    माँ तेरी महिमा चारों ओर बहुत खूब है,                             तेरे बिना माँ ये जग सब शून्य है,                                     माँ हर भक्त के मन ने बस तू ही पूज्य है,                         सबके ऊपर अपनी कृपा बनाये रखना माँ,                       सब भक्तों के लिये माँ तू सबसे अनमोल है।"

           ??"जय जय माता दी"??

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0