मौन गूंज है।

मौन गूंज है।

जो नहीं समझते दिल के अल्फाजों को

वो मौन की भाषा क्या कभी समझ पाएंगे

ह्रदय के भीतर चल रहे अन्तर्द्वन्द को

क्या मौन रहकर हम उस द्वंद

को कभी सुलझा पाएंगे


मौन वो शक्ति है जो भावनाओं 

की ताकत बनती है

मौन वो गूंज है जो बिना बोले 

ही लोगों के कानों में गूंजती है


सुन सको तो सुनो मौन की भाषा

समझ सको तो समझो मौन की परिभाषा

मौन कुछ ना कहकर भी बहुत कुछ कहती है

चुप रहकर भी मौन अपनी शक्ति का संचार करती है।

शब्द जब खोने लगे अपना सामर्थ्य 

तब मौन होकर उसमें ढूंढें हम अपना वर्चस्व

गर लोग समझ जाते मौन की भाषा

अंतर्मन में उठ रहे दिल की अभिलाषा

तब कोई मौन होकर खुद को कोई मजबूर ना समझता

शब्दों की वाणी को त्याग कर खुद को

कोई असहाय ना समझता

समझ सको तो समझो लोगों की की भाषा

उनकी खामोशियां, उनकी उलझनों की परिभाषा


क्योंकि जो मौन होते हैं वो दूसरों से ज्यादा 

खुद से नाराज़ होते हैं।



#पोएट्री चैलेंज

#थर्सडे पोएट्री

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0