मेरी करारी चाय

मेरी करारी चाय

#एक खत चाय के नाम

सर्दी की सुबह हो या गर्मी की सुबह और साथ मे मिल जाए गरमागरम चाय, तो दिल खुश हो जाता है ।"हम भी चायप्रेमी भी हैं। वह भी अदरक वाली पीते हैं. पत्ती ठोंक के, चीनी रोक के।"


आज हम तुम्हें बताते हैं कि हमें तुमसे कैसे प्यार हुआ। पहले हमें तुम बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगती थी ,तुम्हारे नाम से ही हम बीमार हो जाते थे पर जब हम सच में बीमार पड़े तो तुमने ही हमें सहारा दिया तुम्हें पीकर ही हमारे अंदर ताजगी आई अब यह आलम है कि जब तक तुम नहीं आ जाती हमारे पास हमारी सुबह ही नहीं होती।


पहले तुम दवाई के रूप में इस्तेमाल होती थी पर अब दैनिक उपभोग में शामिल हो गई हो।जी हां, यही वह चाय है जिस पर चर्चा करके एक मोदी जी प्रधानमंत्री बन गए। वही चाय जिसको मेहमान नवाजी में परोस कर आदर किया जाता है।

चाय अपने यहां सिर्फ राजनीतिक टेबल, या मेहमान नवाजी पर ही नहीं रह गई है वो हिंदी सिनेमा में भी हमेशा मौजूद रही है राजेश खन्ना की फिल्म ‘सौतन’ का वह गाना भी जरूर याद होगा।


"शायद मेरी शादी का ख्याल दिल में आया है इसीलिए मम्मी ने मेरी तुम्हें चाय पे बुलाया है"।चाय ने कभी किसी को निराश नहीं किया। साल 2000 में आई हिंदी फिल्म ‘हर दिल जो प्यार करेगा’ में ‘एक गरम चाय की प्याली हो’ बरसों तक दूरदर्शन के ‘चित्रहार’ का हिस्सा रहा और अनु मलिक को पहली बार गायक बनाने वाला गाना भी यही है।


हाय ये करारी चाय! किसी कॉलेज की बेहतरीन प्रेम कहानियां कैंटीन में चाय पर ही शुरु होती हैं। कहते हैं... ‘न आए हो, न आओगे. न फोन पे बुलाओगे. न शाम की करारी चाय, लबों से यूं पिलाओगे’।जिंदगी में अब तो चाय ऐसी रस बस गई है कि .."चाय पीने दे बिना ब्रश किए ,या वो वक्त बता दो जब इसकी चाह ना हो"।


जिंदगी में कड़वाहट है, चाय पत्ती की तरह

जिंदगी मीठी है शक्कर की तरह

जिंदगी आराम से जिओगे तो जी जाओगे

जल्दी-जल्दी में चुस्की लोगे तो जल जाओगे

एक दम आसान-सी जिंदगी की तरह

लगने लगी थी मुझे भी

चाय की चाह....


.... #अंतर्राष्ट्रीयचायदिवस

#एक खत चाय के नाम

SeemaPraveenGarg

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0