"मेरे ख्वाबों की पोटली के रंग हजार "

"मेरे ख्वाबों की पोटली के रंग हजार "

मेरे ख्वाबोँ की पोटली में हैं रंग हज़ार,

हर रंग की अलग कहानी और अलग

हैं किरदार,

मेरे ख्वाबोँ की पोटली में हैं रंग हज़ार,

हर रंग की अलग कहानी और अलग हैं किरदार"..

कुछ रंग उस बचपन से आते हैं,

जहां ना कोई परेशानी और ना डर सताते हैं,

कुछ रंग मेरी माँ के आंचल की झलक दिखलाते हैं ..

जहां रह कर मेरे गम दूर हो जाते हैं ,

अपने बाबा की मजबूत कंधो पर, जब मीलों दूर तक जाते थे,उनका हाथ पकड़े दुनिया घूम आते थे।

अब हर परेशानी में माँ के आंचल और बाबा के कंधो को तरसती हूं हर बार.

मेरे ख्वाबोँ की पोटली में हैं रंग हज़ार,

हर रंग की अलग कहानी और अलग हैं किरदार।।

कुछ रंग मेरे दोस्तों की यादों के हैं,

जिनके साथ बिताये पलों और बीती बातों के हैं.

वो छुटपन की मस्ती और बेफिक्री के हैं,

ना कोई अपना ना पराया, बस दोस्ती ही अनमोल होती थी यार..

मेरे ख्वाबोँ की पोटली में हैं रंग हज़ार,

हर रंग की अलग कहानी और अलग हैं किरदार।।

अब मेरे ख्वाबों के रंग मेरे हौसलों की उड़ान के हैं,

मेरी सफलता की पहचान के हैं..

अब अपने किरदार को ऊंचा उड़ाना हैं,

अपनी कलम के दम पर और ऊंचा उड़ते जाना है।

मेरे ख्वाबोँ की पोटली में हैं रंग हज़ार,

हर रंग की अलग कहानी और अलग हैं किरदार।।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0