मरीजों से नर्स का सौहार्दपूर्ण नाता

"स्पर्श, प्यार और परवाह दवाई का दूजा नाम जब पिलाए परिचारिका अपने हाथों से इलाके या काढ़ा मरीज़ के हर दर्द भागे छुड़ाकर तन से नाता"


नर्सिंग एक ऐसा पेशा है जिससे जुड़ी परिचारिकाओं को अपने कर्तव्य के प्रति सच्ची निष्ठा रखनी होती है। उनकी देख रेख से ही मरीज की बीमारी दूर होती है। डाँक्टर तो इलाज कर दवाएं लिख देते हैं। पर अस्पताल में भर्ती मरीजों की देख रेख करते हुए दवाएं खिलाने तक का कार्य एक नर्स ही करती है।


एक प्रशिक्षित नर्स की आवश्यकता जर्नल वार्ड से लेकर ऑपरेशन थियेटर तक में होती है। सामान्यत: नर्स का कार्य रोगी की देखभाल करना, उसे समय पर दवाइयां देना, रोगियों के हेल्थ रिकॉ‌र्ड्स को मेंटेन करना तथा ऑपरेशन थियेटर में उपकरणों को लगाना होता है। अनुभव प्राप्त करने के बाद नर्स ऑपरेशन करने में डॉक्टर की सहायता भी करती हैं।

ईश्वर ने स्त्री के भीतर ममता और संवेदना का स्त्रोत कूट-कूट कर भर दिया है। तभी तो परिवार हो या पेशन्ट सबके प्रति सौहार्द भाव से अपना कर्तव्य निभाते जादूई स्पर्श की परत लगाते दर्द से निजात दिलाने में एक नर्स का काम कर रही स्त्री माहिर होती है।


इस महामारी में अपने स्वास्थ्य की और परिवार की परवाह न करते मरीज़ों की सेवा में दिन रात अपना योगदान दे रही हर परिचारिकाओं को सौ सलाम।कई जगह पर बिना वेतन के भी सरकारी अस्पताल में सेवाएं दे रही कुछ नर्स, कोरोना मरीज़ो का मुफ्त में इलाज कर निभा रहीं हैं अपना कर्तव्य। आसान नहीं सेवा करना आज जहाँ अपने ही अपनों को मरने के लिए छोड़ देते है, वहाँ अपनापन जताकर फ़र्ज़ निभाते मरीज़ का मानसिक तौर पर मनोबल बढ़ाते पूरा सहयोग देकर हर नर्स अपना धर्म बखूबी निभा रही है। दवाई और दुआओं के साथ परवाह और अपनापन मरिज़ में सकारात्मक उर्जा भरता है। और सकारात्मक वातावरण बिमार शरीर को जल्दी ठीक करता है।


कई जगह नर्स को गरीब मरीज़ को अपने पैसों से दवाई और फल खिलाते भी देखा जाता है, भगवान शायद हर जगह नहीं पहुँच पाते तभी तो डाक्टर्स और परिचारिकाओं के रुप में हमारे दु:खों पर मरहम लगा रहे है। नर्स को सिर्फ़ अपनी नौकरी निभा रही है उस द्रष्टि से देखना जायज़ नहीं होगा, जैसे एक माँ अपने बच्चे की नि:स्वार्थ देखभाल करती है उसी ममतामयी मूरत का दूसरा रुप कह सकते है। तभी तो हर परिचारिकाओं को मानवता की मिसाल कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा।


(भावना ठाकर, बेंगुलूरु)#भावु

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0