मम्मा आप डरते हो...

मम्मा आप डरते हो...

आज छत पर अंधेरी रात में टहलते हुए नैना को केवल उसके सात साल के बेटे रूद्र द्वारा पूछा गया सवाल उसके कानों में गूंज मानो उसके दिल की धड़कनें बढ़ा रहा था|
"मम्मा आप डरते हो क्या पापा से???" 
"नहीं तो...क्यों पूछ रहे हो ऐसा" नैना को उस सवाल से सुबह का मंजर याद हो आया...

"डरते नहीं तो फिर जब पापा आप पर हाथ उठाते हैं तो आप चुप क्यों रहते हो। आप कमज़ोर हो ना। पापा कहते हैं सभी लड़कियां कमज़ोर होती हैं।" ये सुनकर नैना के तनबदन में आग लग गई जैसे किसी ने उसके आत्मविश्वास को भीतर तक झकझोर दिया हो। उसके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाया हो।

नैना रूद्र को कुछ बोल तो ना सकी मगर तबसे नैना के मन में हजारों नकारात्मक विचारों ने घर कर लिया "क्या तू सच में कमजोर है। क्यों नहीं तूने राजीव (पति) का हाथ रोका। क्या तू सचमुच डरती है राजीव से। राजीव की दकियानूसी बात ना मानने पर उसने तो रूद्र के सामने तुुुझपर हाथ उठाया है और कई बार ऐसी हरकत करी है जिससे अब तेरा बेटा भी लड़कियों को कमजोर समझने लगा है। लेकिन नैना तू कर भी क्या सकती है। तू क्यों चुप रहती है क्यों नहीं पलटवार करती राजीव पर। आखिर कब तक ये चुप्पी तेरे होठों पर और तेरे दिल को भीतर से खोखला करती रहेगी। मगर मैं सिर्फ और सिर्फ रूद्र बेटा तेरी परवरिश के लिए ही सब सह रही हूँ कि तुझे उचित शिक्षा मिले और तू अच्छी ज़िन्दगी जी सके। मैं अलग हो भी जाऊं तो तुझे कैसे पालूंगी। किसके पास रख तुझे नौकरी करने जाऊंगी। ये मेरी मज़बूरी है क्योंकि तू अभी बहुत छोटा है।" खून के आँसू पीते हुए नैना अपने मन को एक तस्सली देती खामोश हो जाती है मगर उसकी अंतरात्मा उसे कचोट रही है। एक हूक सी उठती है और दिल उसका अभी भी यही पूछ रहा था कि "ये कैसी चुप्पी है जो तू बर्दाश्त कर रही है और इस खोखले रिश्ते को निभा रही है...कल को जिस बेटे के लिए इतना सबकुछ सह रही है वो भी बड़ा हो अपनी राह चल देगा..और तब तेरे पास  पश्चाताप के आँसुओं के अलावा कुछ ना बचेगा।"

दोस्तों ये मेरी एक बहुत ही करीबी दोस्त की कहानी है। उसकी कहानी सुनकर मुझे ऐसा लगता है कि काश हम लड़कियां अपने दम पर जी पातीं और हम भी गलत के खिलाफ आवाज़ उठा पातीं पर वो लड़कियां बहुत मज़बूर होती हैं और अपने बच्चों की खातिर कितना कुछ सहती हैं। जाने ये चुप्पी कब और कैसे तोड़ेंगी।
धन्यवाद


वाणी राजपूत

#येकैसीचुप्पी

What's Your Reaction?

like
2
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0