केटेगरी : Pink Wall

आइए जाने आनंदीबाई के बारे में

आज हम बात कर रहे हैं महिलाओं के लिए प्रेरणा बनी श्रीमती आनंदीबाई गोपालराव जोशी जी के बारे में। 19वीं सदी में जबकि महिलाओं के लिए शिक्षा लेना बिल्कुल भी आसान कार्य नहीं था लेकिन आनंदीबाई जी ने तब मेडिसिन की पढ़ाई पूरी की और डॉक्टर...

और पढ़ें

रानी अहिल्या बाई होल्कर भारत की प्रमुख महिला शासिकाओ में...

महारानी अहिल्या बाई होल्कर का नाम भारतीय इतिहास की सर्वश्रेष्ठ योद्धा रानियों में शुमार है। उनके शासनकाल के दौरान मराठा मालवा साम्राज्य ने सफलता की नई ऊंचाइयों को छुआ।इतिहास की तमाम वीरांगना  नारियों में से एक हैं अहिल्याबाई...

और पढ़ें

पहली प्रेरणादायक IAS ऑफिसर

जब भी भारत की सर्वश्रेष्ठ IAS ऑफिसर्स की बात होती है आज़ाद भारत की पहली महिला IAS अफसर अन्ना रजम मल्होत्रा का नाम सबसे पहले याद आता है। ऐसी कर्मठ और प्रतिभाशाली अफसर भारत का गौरव हैं और रहेंगी। अन्ना 1951 के उस दौर में...

और पढ़ें

क्रांतिकारियों की सच्ची दोस्त दुर्गा भाभी

अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों..। इन पंक्तियों को याद कर देश की आजादी के परवाने याद आते हैं। भले ही आजादी को छह दशक से अधिक हो चुके हैं, किंतु इस आजादी के पीछे अनेकों कुर्बानियां बलिदान और त्याग की कहानियां छिपी हैं,...

और पढ़ें

आधुनिक भारत के निर्माण में योगदान देने वाली 5 एतिहासिक...

पहले स्वतंत्रता संग्राम से लेकर 1947 में देश आजाद होने तक ये महिलाएं डटी रहीं और जब आजाद भारत की अपनी लोकतांत्रिक सरकार बनी उस वक्त भी नए भारत के नींव निर्माण में उन्होंने अपना शत प्रतिशत योगदान दिया। आज हम बात करेंगे...

और पढ़ें

बेआवाज़ स्त्री की आवाज ताराबाई शिन्दे

जब किसी ने यह तय किया कि औरतों को शब्दों से दूर रखा जाए, जब ये रिवाज हुआ कि औरत बाहर न निकले, घर और घर वालों में उलझी रहे सारी उम्र, तब उस पर क्या-क्या  बीती?इसका जवाब मिलना मुश्किल होता अगर औरतों ने अपने सत्य से अपना...

और पढ़ें

भारत की पहली महिला शिक्षिका - सावित्रीबाई फुले

दोस्तों आज हम बात करेंगे 'सावित्रीबाई फुले' की …..जो कि भारत की पहली महिला शिक्षिका थी । इनका जन्म 3 जनवरी 1831 नायगाँ, सातारा (महाराष्ट्र) में हुआ । सन 1840 में , मात्र 9 वर्ष...

और पढ़ें

रुदाली और हजार चौरासी की मां महाश्वेता देवी

रुदाली और हजार चौरासी की मां  महाश्वेता देवी महाश्वेता देवी की रचनाओं में वंचित तबकों के स्वर बहुत प्रभावी ढंग से उभरे हैं।उनकी कई रचनाओं पर फ़िल्में भी बन चुकी हैं. उनके उपन्यास रुदाली पर कल्पना...

और पढ़ें

अमृता प्रीतम ने रखी थी लिव-इन की नींव!

अमृता प्रीतम ने रखी थी लिव-इन की नींव! रसीदी टिकट से अमर हो जाने वाली अमृता आजाद ख्याल लड़कियों के लिए रोल मॉडल थीं। हालांकि आजादी का मतलब उनके लिए भावनात्मक आजादी और फिर सामाजिक आजादी थी। अमृता  की कवितायें...

और पढ़ें

महादेवी द्वारा लिखित 3 श्रेष्ठ रचनाएं

भारत के साहित्य आकाश में महादेवी वर्मा का नाम ध्रुव तारे की भांति प्रकाशमान है। गत शताब्दी की सर्वाधिक लोकप्रिय महिला साहित्यकार के रूप में वे जीवन भर पूजनीय बनी रहीं। पढ़ें महादेवी की लिखी श्रेष्ठ रचनाएं:- 1-पूछता...

और पढ़ें