Pragati Tripathi

Pragati Tripathi

 1 year ago

Member since Mar 19, 2020

होली आई!

??ली आई, रंग - गुलाल संग ले आई।</p><p>प्यार और खुशियों का ये&nbsp; पर्व है, दिल से द्वेष ये मिटाने आई।</p><p>होली आई.. होली आई।</p><p>आओ...

और पढ़ें

बेरंग

"धनिया, ओ... धनिया, कहां है रे तू? देख तोसे मिलने बाबू लोग आये है। कहत रहे, आज तोहसे रंग खेलेंगे।," माधव अपनी पत्नी को बुला रहा था।

और पढ़ें

समय की मार

फगुनी.. फगुनी पुकारते हुए फगुनी की जेठानी घर में घुसी। भगवान की मर्जी के आगे हम कुछ नहीं कर सकते छोटी, तू मन छोटा ना कर इस दुःख के...

और पढ़ें

बाबुल एक बार मुझे गले से लगा लो

आज मीता के छोटे भाई की शादी थी, आज मिथलेश दुल्हा बन दुल्हन को लेने जा रहा था। मीता ने अपनी भाभी और भाई के लिए सारी तैयारियां कर ली...

और पढ़ें

जीवनसाथी

ससुराल पहुंचते ही माया का पहला दिन तो रश्मों - रिवाजों को निभाने में चला गया और दूसरे दिन ही माया को रसोई की रश्म करवानी थी क्योंकि...

और पढ़ें

मैं तो जिंदा हूं

रेखा इस बार छुट्टियों में कहां जा रही हो? अरे डाॅक्टर मीना इस बार तो गोवा जाने की सोच रही थी सोचा नया साल भी मना लूंगी, दो होटल बुक...

और पढ़ें

मुझे बीमारी हो गई है

दुर्गा पूजा का त्योहार था। राधा, गांव से दुर्गा पूजा का उत्सव देखने शहर अपने बुआ के घर गई थी। राधा की उम्र बारह साल थी और

और पढ़ें