Sarika Rastogi

Sarika Rastogi

 2 years ago

जज्बातों को काबू करना हो या व्यक्त करना हो खुद को,,,, मैं लिख लेती हूँ ,,,,लेखन पूजा है मेरे लिए जिसके बिना सुकून नहीं !!

Member since Mar 19, 2020

बेटियों के व्यक्तित्व विकास में माँ की अहम...

हैलो अनाया,,,,!हाय आंटी,,,,अरे प्रिया तेरी बड़ी बेटी तो बहुत प्यारी और स्मार्ट है ये छोटी किस पर पड़ गई,,,देखकर ही भाग जाती है,,,,अरे...

और पढ़ें

कन्या पूजन

शोभा एक गिलास दूध लेलो बेटा नहाकर और मुंह नही जुठारना,अभी ग्यारह बजे पंडित जी आयेंगे अष्टमी पर देवी का हवन कराने उसके बाद कन्या पूजन...

और पढ़ें

कुछ तो लोग कहेंगे

समीरा क्या बात है बड़ी बिजी रहती हो आजकल,मोहल्ले वालों के लिए तो टाइम ही नही है तुम्हारे पास। पड़ोस वाली भाभी ने जानबूझ कर इवनिंग...

और पढ़ें

इमोशनल नही बस संवेदनशील हूँ मैं !

माँ जल्दी से खाना लगा दो ,बहुत भूख लगी है,,बैग पटकते हुए लगभग मैने झुंझलाते हुए कहा।क्यों लंच नही किया क्या स्कूल में ,चल लगा रही...

और पढ़ें