swati roy

swati roy

 2 years ago

Member since May 5, 2020

Following (1)

यहां कोई कन्यादान नही होगा आज

तुम्हें पता भी है तुम क्या बोल रही हो विधि", दूल्हे की पोशाक में सजे वैभव ने गुस्से में लाल पीले होते हुए कहा और विधि को एक कोने में...

और पढ़ें

ओखली में सिर देना

स्वरा और मधु एक ही ऑफिस में काम करती थी और अकसर एक दूसरे की गाड़ी में लिफ्ट लिया करती थी। स्वरा जहां शांत और सरल स्वभाव की थी मधु शरारती...

और पढ़ें

दाएं हाथ से दान करो व बाएं हाथ को ना चले...

मेरी दादी कहती है, "दाएं हाथ से दान करो व बाएं हाथ को ना चले पता

और पढ़ें