Tinni Shrivastava

Tinni Shrivastava

 10 months ago

Member since Mar 30, 2020

रंगों की मतवाली होली

होली' का त्यौहार रंगोली का सबसे पसंदीदा पर्व है। मिलनसार और वाचाल रंगोली को होली पर सबसे मिलना-जुलना ,रंग लगाना और छक कर पकवानों का...

और पढ़ें

माँ बेटी का होली-मिलन

अरे यार शर्मिला, क्या बात है ? होली के दिन इतना सन्नाटा ? हम क्यों मातम मना रहे हैं, भला ?" "मुझे नहीं मनानी होली -वोली। अब रंगोली...

और पढ़ें

इस बार चुप नहीं रहना

मेंहदी और लेडीज़ संगीत का कार्यक्रम बहुत अच्छे से संपन्न हो गया।सब सोने आ गए। पर बुआ की आँखों से नींद कोसों दूर थी। आज रह - रह कर उनकी...

और पढ़ें

तभी थप्पड़ क्यों नहीं जड़ा

मैं शादी के बाद पहली बार इस नये शहर में रहना सीख रही थी। अचानक 'दीदी' से 'भाभी' या 'आंटी' बनने की प्रक्रिया खुद मेरे लिए नयी थी। इन...

और पढ़ें

चाय और कॉफी का मेल : मीठा-मीठा प्यारा प्यारा

आज भी नई दिल्ली से मुजफ्फरपुर की वो रेल यात्रा उसके जेहन में ज्यों के त्यों अंकित है। हालांकि बरसों बीत गए उस सफर को पर इसी सफर ने...

और पढ़ें

मैं 'सिंदूरी' हो गई

सिंदूरी शाम में ,क्षितिज पर डूबते रवि संग ,प्रीत में तेरी रंग कर मैं 'सिंदूरी' हो गई।

और पढ़ें

जोड़ियां बेशक आसमान में बनती हैं और ससुराल...

कहते हैं जोड़ियां आसमान में बनती हैं । हाँ जी जरूर बनती होंगी क्योंकि देर सबेर हम अपने जोड़े के साथ पटरी बिठा ही लेते हैं। पर ये ससुराल...

और पढ़ें

कटहल-आलू की स्वादिष्ट सब्जी

मेरे मायके में बननेवाली कटहल आलू की सब्जी मेरी पसंदीदा सब्जी है। ये सब्जी इतनी स्वादिष्ट बनती है कि इसके आगे सारे व्यंजन मुझे फीके...

और पढ़ें

बेटी को तो सीखने दो

अगर मैं कहूँ कि मैंने कुकिंग का असली ज्ञान पापा से पाया तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। चलिए आपको अपना कुछ बैकग्राउंड बता दूँ तो बात की...

और पढ़ें

कभी-कभी दर्द अच्छे लगते हैं

रसोई' घर की सबसे खास जगह जहाँ खाने के साथ-साथ रिश्तों की मिठास और संबंधों की खट्मिट्ठी पकाई जाती है। मैंने अपने मायके में मम्मी पापा...

और पढ़ें