Yasmeen Ali

Yasmeen Ali

 2 years ago

I'am a govt lecturer .i love reading-writing. I'm a big lover of nature.

Member since Apr 4, 2020

 शब- ए-बारात पर विशेष

प्रत्येक धर्म में मनाए जाने वाले पर्वों के साथ कोई न कोई मान्यता अवश्य जुड़ी होती है। पर्वों को मनाए जाने का कारण जो भी हो इनका एक...

और पढ़ें

वैधव्य या अभिशाप

आज भी समाज में विधवाओं के प्रति एक सोच है उन्हें शुभ अवसरों पर दूर रखा जाता है , जैसे वह कोई अपराधी हों उसे सज़ा मिलनी ही चाहिए, ।...

और पढ़ें

सांकेतिक रस्में

समाज में रहना है तो इसकी रस्मों को भी निभाना ही पड़ेगा, सबके साथ मिलकर चलने की आदत हो तो नये परिवेश में भी अकेलापन महसूस नहीं होता,...

और पढ़ें

बसंत बहार

गूंज उठे वीणा के तार,  माँ शारदे जो मुस्कराई, बिखरे तम को हर दे,  मन को हर्षित कर दे जीवन को उल्लास से भर दे वर दे! वर दे! वर दे!!!!

और पढ़ें

कोई तो होता सुनने वाला

बरसों तक सहते रही सितम, चुभी बातें जैसे नश्तर, वो कुछ कह न सकी, बनी मानिंद कोई बेज़ुबां पत्थर ।

और पढ़ें