RIP Rahul Bajaj : जिसने कभी आम आदमी को भी स्कूटर पर चलने की ताकत दी थी

RIP Rahul Bajaj : जिसने कभी आम आदमी को भी स्कूटर पर चलने की ताकत दी थी

बुलंद भारत की बुलंद तस्वीर...हमारा बजाज'


देश को इस खूबसूरत गाने, दमदार स्कूटर और तमाम सुनहरी यादों से रूबरू कराने वाले राहुल बजाज नहीं रहें उनको नमन..!!

बजाज ऑटो भारतीय कारोबार खासकर ऑटोमोबाइल क्षेत्र में जानामाना नाम रहा है।

राहुल बजाज के नेतृत्व में ही चेतक स्कूटर अस्तित्व में आया था और देखते ही देखते दोपहिया वाहन श्रेणी में सबसे पसंदीदा स्कूटर ब्रांड बन गया था। राहुल उस बजाज समूह के अध्यक्ष थे, चेतक की लोकप्रियता इतनी थी उस समय बजाज समूह को भारत की धड़कन कहकर पुकारा जाने लगा था। 


राहुल बजाज ने 1965 में बजाज ग्रुप की जिम्मेदारी संभाली थी.राहुल बजाज ने 

1965 से लेकर 2005 तक यानी 40 साल तक बजाज ऑटो के चैयरमैन का पद संभाला और कंपनी को बुलंदियों तक पहुंचाया। 

बजाज ग्रुप की ओर से साझा की गई जानकारी में कहा गया है कि बेहद दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि राहुल बजाज अब हमारे बीच नहीं रहे।

फोर्ब्स ने 2016 में दुनिया के अरबपतियों की लिस्ट में उन्हें शामिल किया था। उस वक्त उन्हें लिस्ट में 722वीं रैंक मिली थी और उनकी नेट वर्थ 2.4 अरब डॉलर थी।

राहुल बजाज को दोपहिया वाहन की दुनिया में एक क्रांति लाने के लिए जाना जाता है।

उसके दोपहिया वाहन का ऐड हमारा बजाज भी काफी सुर्खियों में रहा ।

राहुल बजाज ने 1965 से लेकर 2005 तक यानी 40 साल तक बजाज ऑटो के चैयरमैन का पद संभाला और कंपनी को बुलंदियों तक पहुंचाया।

राहुल बजाज जिसने कभी आम आदमी को भी स्कूटर पर चलने की ताकत दी थी। 

राहुल बजाज के निधन पर कई नामचीन व्यक्तियों ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि देश के मशहूर उद्योगपति राहुल बजाज के निधन की बेहद दुखद खबर मिली। आर्थिक मोर्चे पर देश की प्रगति में उनका बड़ा योगदान रहा। ‘बुलंद भारत की बुलंद आवाज़’ हर घर का हिस्सा बनी। ऐसी महान शख्सियत को मेरी भावपूर्ण श्रद्धांजलि। वहीं उद्योगपति किरण मजूमदार शॉ ने राहुल बजाज के निधन पर शोक जताते हुए लिखा कि ये बेहद दुखद समाचार है। वो मेरे करीबी मित्र थे और मैं उनकी कमी बहुत महसूस करूंगी। देश ने अपने एक महान सपूत और राष्ट्र निर्माता को खो दिया है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर लिखा कि कॉमर्स और इंडस्ट्री के क्षेत्र में उनके योगदान को याद रखा जाएगा साथ ही वो कम्युनिटी सर्विस के लिए भी याद रखे जाएंगे।

राहुल बजाज को 2001 में भारत सरकार ने उद्योग एवं व्यापार क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया था। वे राज्य सभा के सदस्य भी रहे। राहुल बजाज को 'नाइट ऑफ द नेशनल ऑर्डर ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर' नामक फ्रांस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से भी नवाजा गया है। राहुल बजाज वो बिजनेसमैन हैं, जिन्होंने उदारीकरण का विरोध किया था। उन्हें आईआईटी रुड़की सहित सात विश्वविद्यालयों द्वारा डॉक्ट्रेट की मानद उपाधि प्रदान की गई है।

वह दूरदर्शी कारोबारी फैसलों और निडरता से सत्ता के सामने बात रखने के लिए मशहूर थे।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0