सबक़- Story written by Neetu Shrivastava

सबक़- Story written by Neetu Shrivastava

"कौन शादी करेगा इससे.... इस लड़की ने अपने माता - पिता के साथ -साथ इसने पूरे खानदान और मुहल्ले का नाक कटवा दिया है !"दो दिन पहले घर से प्रेमी के साथ गुम हुई नंदनी को पुलिस के साथ आया देख वहां एकत्रित लोगों की भीड़ ने कहा |


सोमेश के प्रेमजाल में फंसकर उसके बहकावे में आकर नंदनी अपने घर वालो को बिना बताए चुपके से उसके साथ चली गयी थी | सुबह उसके घर वाले उसको घर में नहीं देख किसी अनहोनी की आशंका से तो उसको पहले ढूंढने की कोशिश किए| उसके बाद ज़ब वह नहीं मिली तब पुलिस में उसकी गुमशुदी की रिपोर्ट लिखवाने गए | पुलिस वालो ने हिकारत भरी नजरों से नंदनी के पापा को देखकर कहा , " जब आपकी बेटी प्रेमी संग गुलछरे उड़ा रही थी तब आप कहा सोए थे?


"नंदनी के पापा ने कहा, " मेरी बेटी बहुत भोली है उसके साथ जरूर कुछ गलत हुआ है |"पुलिस वाला उसी अंदाज में बोला , " हाँ- हाँ अब जबकी सच्चाई सबको पता चल चूका है आपकी बेटी की करतूतों का तब आप और कह भी क्या सकते है? पुलिस के जीवन में वैसे भी अनेकों काम होता है और एक ये लोग है जो ख़ुद का घर भी ठीक से नहीं संभालते और घटना घट जाने के बाद मुँह उठाकर चले आते है |" उनके बातों को सुनकर बहुत बेबस और अपमानित महसूस किए थे नंदनी के पापा |


सोमेश नंदनी को अपने साथ शादी करने की झांसा देते हुए फुसलाकर दूर दूसरे शहर के एक होटल में ले जाकर दो दिनों तक रखने के बाद एक दिन उसको बिना कुछ बताए सोते हुए छोड़कर वहां से भाग गया | नंदनी पहले सोमेश को ढूंढी उसके बाद जब काफ़ी समय बीत जाने के बाद सोमेश नहीं आया | और ना ही उसका फोन लग रहा था वह घबड़ाने लगी | सोमेश का कहीं पता नहीं था उसकी सच्चाई जानकर नंदनी सकते में आ गयी | अब उसको कुछ समझ में नहीं आ रहा था वह फूट - फूटकर रोने लगी, उसको रोते देखकर होटल के स्टॉफ और मैनेजर पुलिस को फोन कर दिये |


पुलिस आई तहकीकात की उसके सामने सोमेश का फ्राड आया उसके बाद नंदनी को लेकर पुलिस उसके घर आई | नंदनी बहुत पछता रही थी वह बिल्कुल सड़क पर आ गई | पहले से नराज उसके परिवार वालो ने उसको ठुकरा दिया | नंदनी के पास कोई और चारा नहीं था लेकिन वह मरने से बेहतर जिंदगी जीने का फैसला किया |


उसने नारी निकेतन जाना चाहा, उसके बाद महिला थाना पुलिस उसको नारी निकेतन में छोड़ आई है।दरअसल, नंदनी एक कॉलेज से एमएससी अंतिम बर्ष की पढ़ाई कर रही थी | कॉलेज जाते एक दिन उसकी मुलाकात सोमेश से हुई | सोमेश ने उसे बताया की वह अपने बिजनेस के किसी काम के सिलसिले में इस के शहर में आया है | उन दोनों के बीच मुलाकात बढ़ने लगी और उस बढ़ते मुलाक़ात में सोमेश की मीठी बातों को नंदनी प्यार करने की भूल समझ बैठी |अपने जीवन के सबसे बड़ी भूल से सबक़ लेकर नंदनी आगे बढ़ने की सोची कुछ दिनो तक नारी निकेतन में रहने के बाद उसने उस शहर को छोड़ दिया |


और महानगर में आगे की जिंदगी को एक नए शिरे से पहचान देने के लिए आ गयी | उसी महानगर में रहने वाली उसकी सहेली बहुत सहायता की | उसके बाद वहां एक कॉल सेंटर में जॉब लग गई | वही पास के P.G. में नंदनी अपने रहने की व्यवस्था भी कर लीं | उसके बाद नंदनी ने अतीत को भूल कर बहुत मन लगाकर समय निकालकर कठिन मेहनत से पढ़ाई करने लगी और UPSC के परीक्षा पास करके अपने साथ इंसाफ की | नंदनी अपने जीवन के उस भूल से लड़कियों के लिए एक संदेश देती है की लड़कियां उसके अतीत के बारे में जाने और उससे सीख लेकर सबक लें | 


नीतू श्रीवास्तव..... ✍️

#पिंकएक्सपर्ट

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0