सजना चले ससुराल

सजना चले ससुराल

 हम अक्सर मजाक में कहते रहते हैं कि इन पुरुषों को शादी के बाद अपना घर छोड़कर आना पड़ता तो पता चलता। तो सखियों ऐसा एक राज्य है जहाँ के पुरुष शादी के बाद अपनी ससुराल में रहते हैं। वह है मेघों का घर, मेघालय जो अपनी प्राकृतिक सुंदरता के साथ-साथ एक और बात के लिए जाना जाता है, वो है नारी शक्ति का सम्मान।

मेघालय एक महिला प्रधान राज्य है, जहाँ पारिवारिक एवम् सामाजिक शक्तियां स्त्री के हाथ में होती हैं। सम्पत्ति की उत्तराधिकारी भी पुत्र के स्थान पर पुत्री होती है और बच्चे भी अपनी माँ के नाम से जाने जाते हैं। एक और अनूठी परम्परा है कि विवाह के बाद पुरूष स्त्री के घर रहने आता है।

 यहाँ नारी के महत्व को दर्शाती एक और खूबी है कि बेटी के जन्म को एक उत्सव की तरह मनाया जाता है,ओर बेटे के जन्म को सामान्य रूप से लिया जाता है। व्यापार और उद्योग जगत में भी महिलाओं की भागीदारी ज्यादा है।

इसलिये सखियों पुरानी फिल्म के इस गाने पर- 'छोड़ बाबुल का घर मोहे पी के नगर आज जाना पड़ा', एकाधिकार का भ्रम अब हमें छोड़ना होगा क्योंकि इस रिवाज को कुछ पुरुष भी निभा रहे हैं।

~सुमेधा

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0