सर्दियों का मौसम गज़ब ढ़ा गया: Blog post by Bhavna Thaker

सर्दियों का मौसम गज़ब ढ़ा गया: Blog post by Bhavna Thaker

आज न पेट में कोई गड़बड़ है, न ही कुछ अनाप-सनाप खाया है, फिर ये मितली और उल्टियाँ मेरी समझ में नहीं आ रही थी। मैंने जितेन को बताया जितेन आज मेरी ऑफिस फोन करके बोल दो न प्लीज़ की आज मैं ऑफिस नहीं आ रही, छुट्टी सेंक्शन कर दें। जितेन ने पूछा क्यूँ बेबी क्या हुआ तबियत तो ठीक है ना। मैंने कहा हाँ वैसे तो ठीक है पर पेट में कुछ गड़बड़ लग रही है, दो तीन उल्टियाँ हो गई फिर भी मितली आ रही है और मन मचल रहा है एक दिन आराम कर लूँगी तो ठीक हो जाएगा।


नींबू पानी पिया, मुँह में लोंग इलाईची रखें पर फिर भी उल्टी बंद नहीं हुई। दूसरे दिन भी उल्टियों का सिलसिला चालू रहा तो मेरा माथा ठनका, हाय राम ये कहीं वो वाली उल्टियाँ तो नहीं। फिर याद आया इस महीने पिरीयडस भी मिस हुए है और मैं ज़्यादा कुछ सोचे पास के मैडिकल स्टोर से प्रेगा न्यूज़ किट ले आई और चैक किया तो पोज़िटीव दिखा। हे भगवान इतने प्रिकोशन्स के बावजूद कैसे हो गया? तभी याद आया 31 दिसम्बर की रात कड़ाके की ठंड़ थी उपर से न्यू यर पार्टी में किया बियर का नशा और जितेन की शरारत ने उन सब में आग लगा दी थी, बस बहक गए थे दोनों और नतीजन ये...मैं करियर ऑरियन्टेड लड़की अभी माँ बनने के मूड़ में नहीं थी, अगले महीने प्रमोशन भी डिक्लेयर होने वाला है। पर अब क्या हो सकता है। उफ्फ़ ये सर्दियों का मौसम भी क्या गज़ब ढ़ाता है, एक कंबल के भीतर दुबका दो दिलों की नज़दिकीयों के आलम में कैसी आग लगा जाता है। मैंने जितेन को बताया तो वो तो पागल हो गया हाए मेरी सोना क्या खुशखबरी दी है। मजा आ गया। पर मुझे नाखुश देखकर मजाक में बोला क्या हुआ बच्चा मेरा ही है ना? पर यार ये हुआ कब..मैंने कहा जो नहीं होना चाहिए था वो हो गया, सर्दियों का मौसम गज़ब ढ़ा गया जनाब।


पर कुछ भी हो आज अपनी पाँच साल की सोनपरी को हम सर्दियों वाला तोहफ़ा कहते इतना लाड़ करते है की बात पूछो मत। पर सर्दियों के मौसम में जितेन आज भी मुझे चिढ़ाते हुए गा देते है। रुप तेरा मस्ताना प्यार मेरा दीवाना भूल कोई हमसे ना हो जाए। तो सर्दियों वाले मौसम की प्यारी सी यादों में खोते इस किस्से को ताउम्र कैसे भूल सकती हूँ।

भावना ठाकर \"भावु\" (बेंगलूरु, कर्नाटक)#सर्दियों की गर्माहट 

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0